न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रोहित मुनि की गिरफ्तारी के बाद और भी कई राज खुलने की संभावना

मरने से पहले नाबालिग बच्ची ने लगाया था रोहित मुनि पर दुष्कर्म करने का आरोप

78

Ranchi : मानव तस्करी के आरोपी रोहित मुनि की गिरफ्तारी के बाद और भी कई राज सामने आने की संभावना है. लड़कियों को बेचने के आरोप में दिल्ली पुलिस भी रोहित मुनि को रिमांड पर ले सकती है. 25 सितंबर को झारखंड की 16 लड़कियों को दिल्ली से रांची लाया गया था. उनमें से एक नाबालिग बच्ची भी शामिल थी. उसने आरोप लगाया था कि रोहित मुनि उसके साथ अक्सर दुष्कर्म किया करता था. पीड़ित लड़की का रांची स्थित रिम्स में इलाज के दौरान मौत हो गयी थी. मौत से पहले उसने पुलिस को रोहित मुनि के खिलाफ अपना बयान दिया था. अब रोहित मुनि की गिरफ्तारी के बाद पुलिस को इस मामले में बहुत कुछ जानकारी मिलने की संभावना जतायी जा रही है.

इसे भी पढ़ें- दिल्ली में झारखंड की बेटियों को बेचनेवाला रोहित मुनि बिहार से गिरफ्तार

सैकड़ों लड़कियों को बेचने का है आरोप

रोहित मुनि और उसकी पत्नी प्रभा मुनि पर झारखंड के गुमला, सिमडेगा की सैकड़ों बच्चियों को बड़े शहरों में बेचने का आरोप है. कई को पुलिस ने रेस्क्यू कर बरामद भी कर लिया है. रोहित मुनि और प्रभा मुनि दिल्ली में बच्चियों को बेचने के लिए आया मेला भी लगाया करते थे, जिसमें दिल्ली के कई बड़े अधिकारी तक शामिल होते थे. स्पेशल ब्रांच ने इस संबंध में झारखंड पुलिस को चिट्ठी भी लिखी थी. रोहित मुनि और उसकी पत्नी प्रभा मुनि के खिलाफ सिमडेगा और गुमला के कई थानों में दर्जनों मामले दर्ज हैं. रोहित की पत्नी प्रभा को दिल्ली एटीएस के सहयोग से 22 सितंबर को गिरफ्तार किया गया था. अब रोहित मुनि की गिरफ्तारी के बाद रोहित मुनि द्वारा बेची गयीं लड़कियों का पता चल सकता है और उन्हें रेस्क्यू कर झारखंड लाया जा सकता है.

इसे भी पढ़ें- हैवानियत : गैंगरेप के बाद प्राइवेट पार्ट में डाला डंडा, महिला की मौत

स्कूल में एडमिशन दिलाने के बहाने बेच दिया था नाबालिग बच्ची को

आरोप है कि 2012 में गुमला के कामडारा की 10 साल की बच्ची को रोहित मुनि ने गायब कर दिया था. एफआईआर में जिक्र है कि बच्ची को कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में एडमिशन दिलाने की बात कहकर वह ले गया था. एक हफ्ते के बाद परिजन स्कूल पहुंचे, तो पता चला कि बच्ची का एडमिशन ही नहीं हुआ है. बाद में बच्ची को दिल्ली से मुक्त कराया गया था.

प्रभा मुनि का दूसरा पति है रोहित मुनि

सिमडेगा के एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट (एएचटीयू) थाने में छह मई 2013 को मानव तस्करी, बाल श्रम आदि के मामले में प्राथमिकी दर्ज की गयी थी. इसमें भी दिल्ली के गोपाल बारला, लता लकड़ा, बीएस आजाद, प्रभा मुनि व रोहित मुनि को आरोपी बनाया गया था. रोहित मुनि और उसकी पत्नी प्रभा मुनि के विरुद्ध कई और थानों में मामले दर्ज हैं. पुलिस को इनकी कई वर्षों से तलाश थी. रोहित की पत्‍‌नी झारखंड पुलिस की ओर से भगौड़ा भी घोषित की गयी थी. प्रभा मुनि उत्तराखंड की रहनेवाली है. रोहित मुनि प्रभा का दूसरा पति है. पहले पति की मौत के बाद प्रभा ने रोहित मुनि से शादी की थी. दिल्ली में भी रोहित मुनि पर मुकदमा दर्ज है.

इसे भी पढ़ें- 10 करोड़ से बना सदर अस्पताल पुराने खंडहर पीएमसीएच की राह चला

दिल्ली के टैगोर गार्डन से गिरफ्तार हुई थी प्रभा मुनि

22 सितंबर की देर शाम एटीएस ने प्रभा मुनि को दिल्ली में टैगोर गार्डन से गिरफ्तार किया था. उसके बाद उससे तस्करी के मामलों को लेकर पूछताछ की गयी थी. पूछताछ के बाद प्रभा को दिल्ली से 27 सितंबर को रांची लाया गया था. गौरतलब है कि प्रभा सिमडेगा जिले में कई सालों से मानव तस्करी का काम करती आ रही थी. उस पर सैकड़ों युवतियों की तस्करी का आरोप है. इसी को लेकर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए उसे गिरफ्तार किया है. प्रभा मुनि अभी दिल्ली की जेल में बंद है.

इसे भी पढ़ें- 18 साल बाद भी अधर में झारखंड-बिहार के बीच 2584 करोड़ की पेंशन देनदारी, कई राउंड बैठकों के बाद भी…

10 हजार का इनाम था रोहित मुनि पर

झारखंड के सिमडेगा जिले से नाबालिग लड़कियों को ले जाकर महानगरों में बेचने के आरोपी रोहित मुनि को बुधवार रात बिहार के भागलपुर स्थित कहलगांव थाना क्षेत्र के त्रिमुहान गांव से पुलिस ने गिरफ्तार किया था. गुरुवार को कहलगांव पहुंची सिमडेगा पुलिस रोहित को रिमांड पर अपने साथ ले गयी. उसके खिलाफ मई 2013 में कांड दर्ज कराया गया था. रोहित 10 हजार रुपये का इनामी था, जबकि उसकी पत्नी उत्तराखंड की प्रभा मुनि भी 25 हजार रुपये की इनामी थी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Open

Close
%d bloggers like this: