Khas-KhabarRanchi

साल 2019 के कई चर्चित कांड जिनकी गुत्थी नहीं सुलझा सकी रांची पुलिस

Ranchi: रांची पुलिस के लिए 2019 सफलता और असफलताओं से भरा साल रहा. इस दौरान जहां रांची पुलिस कुछ चर्चित मामलों का खुलासा करने में नाकाम रही तो वहीं कई कांडों का सफलतापूर्वक उद्भेदन भी किया. 2019 में जहां ज्यादातर हत्या की घटनाएं जमीन विवाद और आपसी विवाद में हुईं तो वहीं लूट, चोरी छिनतई और दुष्कर्म की घटना भी सुर्खियों में रहीं.

2019 के कुछ चर्चित मामलों का खुलासा करने में नाकाम रांची पुलिस

सामू उरांव की हत्या

Chanakya IAS
SIP abacus
Catalyst IAS

8 जनवरी 2019 में डोरंडा के कुसई घाघरा में छह हथियारबंद अपराधियों ने रात के करीब 10 बजे दो लोगों पर ताबड़तोड़ फायरिंग की. इसमें सामू उरांव की मौत हो गयी और उनके दोस्त शंकर सुरेश उरांव गंभीर रूप से घायल हो गये. इस मामले में भी अब तक पुलिस के हाथ खाली हैं.

The Royal’s
MDLM
Sanjeevani

इसे भी पढ़ेंःखूंटी में युवती का अधजला शव बरामद, हत्या कर लाश फेंके जाने की आशंका

अग्रवाल बंधु मर्डर केस

6 मार्च 2019 को अरगोड़ा थाना क्षेत्र के अशोक नगर में दो सगे भाइयों हेमंत और महेंद्र अग्रवाल की हत्या को रांची पुलिस भूल गई. क्योंकि हत्याकांड के 9 महीने बीत जाने के बाद भी इसके मुख्य आरोपी लोकेश चौधरी और एमके सिंह को पुलिस गिरफ्तार तो दूर, यह पता भी नहीं कर पाई कि दोनों कहां छिपकर रह रहे हैं.

दोनों भाइयों की हत्या के बाद यह मामला इतना चर्चित हुआ था कि रांची पुलिस ने दोनों मुख्य आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए तीन-तीन एसआइटी का गठन उसी दिन कर दिया था.

मां-बेटी की हत्या

2 सितंबर 2019 को अरगोड़ा थाना क्षेत्र के पिपराटोली में रेखा तिग्गा व उसकी पांच साल की बेटी प्रियांशी तिर्की की हत्या के मामले में अब तक आरोपी की शमीम की गिरफ्तारी अबतक नहीं हुई है. हालांकि पुलिस ने आरोपी के घर कुर्की की थी.

गहना घर में फायरिंग

14 अक्टूबर 2019 को लालपुर थाना क्षेत्र के अमरावती कॉम्प्लेक्स में संचालित होने वाली गहना घर में दिन के करीब 2:00 बजे के आसपास दो बाइक पर सवार होकर आये पांच की संख्या में अपराधियों ने दुकान में लूटपाट की कोशिश की थी. जिसका विरोध करने पर दो सगे भाइयों को गोली मारकर अपराधी मौके से फरार हो गये थे. इस मामले पुलिस को अबतक अपराधियों का कोई सुराग नहीं मिला है.

इसे भी पढ़ेंः#RSS भारत की 130 करोड़ आबादी को हिंदू समाज मानता हैः मोहन भागवत

ज्वेलरी दुकान में लूट और हत्या

1दिसंबर 2019 में बरियातू थाना क्षेत्र के मोरहाबादी गीतांजलि क्लब के पास आभूषण अलंकार नाम की ज्वेलरी दुकान में अपराधियों ने दुकान के मालिक भैरव साहू को चाकू और हथौड़ी से मारकर घायल कर दिया था.
दुकान के घायल मालिक भैरव साहू को रिम्स में भर्ती कराया गया जहां उनका इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई थी. इस मामले में पुलिस अबतक आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर पाई है.

2018 के अनसुलझे दो केस

सोमी मुंडा मर्डर केस

2 दिसंबर 2018 को पंडरा ओपी क्षेत्र स्थित बजरा के मुंडा चौक के सामी मुंडा अपने होटल के लिए पानी लाने निकला था. इसी दौरान बाइक सवार दो अपराधी वहां पहुंचे और रास्ता पूछने के बहाने सामी मुंडा को गोली मार दी थी. जिसके बाद स्थानीय लोगों ने उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती कराया.

जहां से बेहतर इलाज के लिए उन्हें रिम्स रेफर किया गया था. लेकिन 15 दिसंबर को रिम्स में ऑपरेशन के दौरान सामी मुंडा की मौत हो गई थी. इस घटना को लेकर स्थानीय लोगों में खासा रोष देखा गया था. इस घटना के विरोध में स्थानीय लोगों ने इटकी रोड को जामकर प्रदर्शन भी किया था. लेकिन इस मामले में शामिल आरोपियों को पुलिस अबतक गिरफ्तार नहीं कर पाई है.

जमीन विवाद में अरुण किस्पोट्टा का मर्डर

29 दिसंबर 2018 को डोरंडा थाना क्षेत्र के बड़ा घाघरा में जमीन विवाद के चलते अरुण किस्पोट्टा नाम के व्यक्ति को गोली मार दी गयी. उसे घायलावस्था में रिम्स में भर्ती कराया गया, जहां अगली सुबह उसकी मौत हो गयी थी. इस मामले में भी पुलिस हत्यारे को गिरफ्तार नहीं कर पायी है.

इसे भी पढ़ेंःअरुंधति रॉय ने कहा, #NPR में डेटा मांगने पर नाम बतायें रंगा-बिल्ला, स्वामी ने इसे देशद्रोह करार दिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button