ChaibasaCrime NewsJamshedpurJharkhand

Manpreetpal Singh Muder Case : झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास का पूर्व अंगरक्षक काल‍िका स‍िंंह पत्‍नी सह‍ित ह‍िरासत में, मनप्रीत के घर पुल‍िस तैनात, ये रहा ताजा अपडेट VIDEO

Jamshedpur : जमशेदपुर के सिदगोड़ा पोस्ट ऑफिस रोड निवासी मनप्रीतपाल सिंह की हत्या के मामले में पुलिस ने झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री व भाजपा के राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष रघवुर दास के बॉडीगार्ड रहे कालिका सिंह और उनकी पत्नी को हिरासत में ले रखा है. कालिका सिंह हत्या के आरोपी राहुल सिंह के पिता हैं. वहीं राहुल ने परिजनों को फोन कर कोर्ट में सरेंडर करने की बात कही है.

हत्‍या के पहले रेकी करते सीसीटीवी फुटेज में दिखे अपराधी, तीन स्कूटी से आए थे युवक

Catalyst IAS
ram janam hospital

उधर, हत्‍या की घटना के बाद पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज की जांच की. जांच में पुलिस ने पाया कि अपराध‍ियों ने घटना से पहले मनप्रीतपाल स‍िंंह के घर की रेकी की. रेकी के बाद अपराधी तीन स्कूटी पर सवार होकर आए और हत्‍या की वारदात को अंजाम दिया. घटना के बाद पुलिस ने मौके से 10खोखा, दो जिंदा गोली और एक खाली मैगजीन बरामद की है.

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

ये है घटना
बता दें कि गुरुवार की शाम राहुल सिंह, अक्षय सिंह, नवीन सिंह और गौरव गुप्ता मनप्रीत के घर में घुसे और मनप्रीत पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी. सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची और घायल मनप्रीीत को इलाज के लिए टीएमएच ले गई जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया.

स‍िख समाज गुस्‍से में, कहा- अपराध‍ियों की ग‍िरफ्तारी तक नहीं होगा अंत‍िम संस्‍कार


उधर, हत्‍या के बाद सिख समाज गुस्से में है. गुरुवार को सिख समाज के लोग मनप्रीत के घर पहुंचे और  बैठक की. बैठक में यह निर्णय लिया गया कि जबतक अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं हो जाती तब तक मनप्रीत के शव का अंतिम संस्कार नहीं किया जायेगा. शव को टीएमएच के शव गृह में रखा गया है. इधर, एसएसपी एम तमिल वाणन एवं सिटी एसपी के. विजय शंकर भी मृतक के घर पहुंचे और स‍िख समाज के लोगों को समझाने का प्रयास किया, पर समाज के लोग मानने को तैयार नही थे. अंत में पुलिस ने अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए 24 घंटे की मोहल्लत मांगी है. साथ ही मनप्रीतपाल स‍िंंह के घर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

ये भी पढ़ें-मांडर उपचुनावः भाजपा को खोयी सीट पाने की और बंधु को अपनी प्रतिष्ठा बचाने की चुनौती

Related Articles

Back to top button