न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

गिरिडीह जेल में पोक्सो एक्ट के 25 वर्षीय कैदी मनीष रजक ने की आत्महत्या

1,939

Giridih:  गिरिडीह जेल में बंद 25 वर्षीय कैदी मनीष रजक ने रविवार दोपहर करीब एक बजे जेल के कैंपस में लगे पेड़ में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. कारण का खुलासा फिलहाल अब तक नहीं हो पाया है.

जेल अधीक्षक से घटना के कारणों की जानकारी लेने का प्रयास किया गया, तो जेल अधीक्षक का मोबाइल नंबर भी बंद था. जानकारी के अनुसार जेल के पिछले हिस्से में बाथरूम के समीप कटहल के पेड़ में मृतक कैदी के शरीर को झूलते हुए सबसे पहले जेल के कक्षपाल अरविंद सिंह मुंडा ने देखा. जेल के जिस हिस्से में कैदी ने फांसी लगायी, वह कैदियों के वार्ड से कुछ दूरी पर है.

लिहाजा, सूनसान स्थान पर पहुंच कर कैदी के फांसी लगाने की कोई जानकारी पूरे जेल प्रशासन को नहीं हो पायी. इसी दौरान दोपहर एक बजे कक्षपाल मुंडा ने मृतक को पेड़ से झूलते देखा, इसके बाद उसने हल्ला कर और लोगों को बुलाया.

इसे भी पढ़ेंः इम्का झारखंड चैप्टर के सदस्‍य जुटे, अनुभव साझा किये, होनहारों को स्कॉलरशिप देने का निर्णय

गंभीर हालत में सदर अस्पताल में किया गया भर्ती

जेल अधीक्षक समेत जेल के सुरक्षा कर्मियों ने मनीष को जेल के स्वास्थ केन्द्र में इलाज के लिए भर्ती कराया. जहां स्थिति गंभीर देख मनीष को सदर अस्पताल पहुंचाया गया. जहां करीब ढाई बजे इलाज के क्रम में उसकी मौत हो गयी. इधर मनीष के सुसाईड किए जाने के कारणों का पता लगाने में पुलिस जुट गयी है. जबकि कक्षपाल का बयान भी दर्ज करने की प्रकिया चल रही थी.

इसे भी पढ़ेंः चुनाव आयोग का नया फरमान, प्रिंट मीडिया में मतदान के दिन और एक दिन पहले बगैर प्रमाणित विज्ञापन नहीं छपेंगे

दो दिन पहले मध्य प्रदेश से पुलिस ने लिया था हिरासत में

जानकारी के अनुसार मृतक कैदी मनीष रजक को दो दिन पहले बगोदर थाना पुलिस ने नाबालिग को भगा ले जाने के आरोप में पोस्को एक्ट के तहत कोर्ट में पेश किया था. कोर्ट ने मनीष को जेल भेजने का निर्देश दिया था.

जानकारी के अनुसार बीते 4 अप्रैल को बगोदर पुलिस मृतक कैदी समेत नाबालिग लड़की को मध्य प्रदेश के बालाघाट से बरामद कर बगोदर लेकर आयी थी. वहीं पांच अप्रैल को मृतक कैदी को बगोदर पुलिस ने कोर्ट में पेश किया.

पेशी के बाद कोर्ट ने पोक्सो एक्ट की धाराओं के तहत जेल भेजने का आदेश दिया था. पुलिस मृतक कैदी के शव के पोस्टमार्टम की तैयारी में जुटी है.

इसे भी पढ़ेंः पलामू: झारखंड-बिहार सीमा पर और तेज होगा नक्सलियों के खिलाफ अभियान, सीआरपीएफ आईजी ने की बार्डर की समीक्षा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: