1st LeadNationalNEWSTOP SLIDER

पीएम मोदी की मीटिंग में आधे घंटे लेट आयीं ममता…और यह कहकर निकल गयीं कि मुझे कई जरूरी काम हैं

यास तूफान से हुए नुकसान की समीक्षा के लिए बुलायी गयी थी मीटिंग

New Delhi. यास तूफान से हुए नुकसान का जायजा लेने कोलकाता पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रिव्यू मीटिंग में ममता बनर्जी बमुश्किल तीन-चार मिनट के लिए आयीं. उन्होंने बाढ़ से हुए नुकसान से जुड़ी एक फाइल वहां रखी और यह कहकर वहां से धड़धड़ाते हुए निकल गयीं कि उन्हें आज और भी कई जरूरी मीटिंग्स करनी है. जिस बिल्डिंग में पीएम मोदी की मीटिंग थी, ममता बनर्जी भी उसी बिल्डिंग में मौजूद थीं, लेकिन वह निर्धारित समय से 30 मिनट देर से पहुंचीं और वहां फाइल देकर निकल गयीं. यहां तक कि पश्चिम बंगाल सरकार के गृह सचिव और मुख्य सचिव को भी ममता ने बैठक में शामिल नहीं होने दिया, जबकि मीटिंग में इन अफसरों को भी मौजूद रहना था. मुख्यमंत्री और इन अफसरों के लिए मीटिंग में रखी गयीं कुर्सियां खाली रह गयीं.

 

इसे भी पढ़ें : 371 डॉक्टरों को अब तक नहीं मिली पगार, कर रहे हैं इंतजार, बेपरवाह सरकार

 

बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री की इस रिव्यू मीटिंग में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी को न्योता दिये जाने से ममता नाराज थीं. बता दें कि यास तूफान से हुए नुकसान का जायजा लेने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज पश्चिम बंगाल और ओडिशा का हवाई सर्वेक्षण किया. इसके बाद उनका दोनों राज्य सरकारों के साथ रिव्यू मीटिंग का कार्यक्रम पहले से तय था.

ram janam hospital
Catalyst IAS

इधर ममता बनर्जी के इस व्यवहार पर पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने नाराजगी जतायी है. उन्होंने कहा, “यह मीटिंग राज्य और उसके लोगों के हित में था. टकराव के ऐसे रुख से राज्य या लोकतंत्र के लिए नुकसानदेह है. सीएम और अधिकारियों द्वारा बैठक में भाग नहीं लेना संवैधानिक प्रावधानों के खिलाफ है. ”

The Royal’s
Sanjeevani

दूसरी ओर, ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक ने चक्रवात यास के बाद ओडिशा का दौरा करने के लिए पीएम का आभार व्यक्त किया और कहा कि राज्य सरकार ने कोविड-19 महामारी के बीच केंद्र सरकार पर बोझ से बचने के लिए कोई तत्काल वित्तीय सहायता नहीं मांगी है. सीएम नवीन पटनायक ने कहा कि ओडिशा संकट से निपटने के लिए अपने संसाधनों से प्रबंधन करेगा.

 

इसे भी पढ़ें : 3 साल पहले कांची नदी पर बना पुल ध्वस्त, CM ने दिया जांच का आदेश

Related Articles

Back to top button