West Bengal

  ममता बनर्जी ने कहा, बंगाल में  #NRC लागू  नहीं  होगा,  भगवा पार्टी  को  मुझसे पार पाना होगा

Kolkata : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भाजपा पर हमलावर होते हुए कहा है कि NRC के लिए भाजपा को पहले मुझसे पार पाना होगा. इस क्रम में ममता बनर्जी ने राज्य के लोगों को आश्वासन दिया कि बंगाल में एनआरसी (NRC) की अनुमति नहीं दी जायेगी.

Jharkhand Rai

भाजपा को चेतावनी दी कि यदि भगवा पार्टी लोगों को छूने का प्रयास करेगी तो पहले पार्टी को उनसे पार पाना होगा. ममता ने भाजपा के स्थानीय नेताओं पर आरोप लगाया कि वे राज्य में राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) को लागू करने की संभावना को लेकर अफवाहें फैला रहे हैं.

इसे भी पढ़ें- देवेश, राज, अमित, सुशील, सुमित, दीपक, मंटू समेत कई ने बताये झारखंड की बदहाली के लिए जिम्मेदार कौन?

किसी को भी पश्चिम बंगाल नहीं छोड़ना पड़ेगा

दिल्ली में पीएम मोदी- गृह मंत्री शाह से मुलाकात के दो दिन बाद ही ममता के तेवर बदल गये हैं. ममता ने शुक्रवार शाम  दिल्ली से लौटने के बाद संवाददाताओं से कहा, मैं पश्चिम बंगाल के लोगों को आश्वस्त करती हूं कि अगर आपको मुझ पर भरोसा है तो चिंता नहीं करें. किसी को भी पश्चिम बंगाल नहीं छोड़ना पड़ेगा. आप जैसे इतने वर्षों से रहते आ रहे हैं, वैसे ही आप यहां रहते रहेंगे.  तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता ने कहा कि एनआरसी असम के लिए है और वह राज्य के लोगों की परेशानियों के बारे में गृह मंत्रालय को सूचित करने के लिए दिल्ली गयी थीं.

Samford

सीएम  ममता ने कहा, मुझे संदेह है कि यह देश में कहीं और लागू हो पायेगा. कहा कि हमारी तरह बिहार ने भी पहले ही कह दिया है कि वे इसे लागू नहीं करेंगे. जो कह रहे हैं कि पश्चिम बंगाल में एनआरसी लागू किया जायेगा, वे केवल लोगों को डराने की कोशिश कर रहे हैं. कुछ स्थानीय भाजपा नेता इस तरह की अफवाहें फैला रहे हैं ,उन्होंने दावा किया कि यह भाजपा का एक राजनीतिक हथियार है.

इसे भी पढ़ें- मैं काम करना चाह रहा था, लेकिन कुछ विभाग में फाइल बढ़ती ही नहीं, आखिर फाइल चलती क्यों नहीः Rtd. IAS अनिल स्वरूप

मतदाता सूची में अपना नाम दर्ज करायें

इस क्रम में  ममता ने बंगाल की जनता से कहा, ‘मैं आपसे केवल एक अनुरोध करूंगी कि आप मतदाता सूची में अपना नाम दर्ज करायें. मतदाता सूची के लिए नवीनीकरण अभियान चल रहा है. इसके अलावा कुछ नहीं करना है. ममता ने कहा, मैंने सुना है कि एक व्यक्ति ने जलपाईगुड़ी में आत्महत्या कर ली और दूसरे की बालुरघाट में डिजिटल राशन कार्ड के लिए कतार में इंतजार करते हुए मौत हो गयी. ममता बनर्जी ने दोनों परिवारों को 2 लाख रुपए का मुआवजा देने की बात कही.

इसे भी पढ़ें- #RSS Chief मोहन भागवत 24 सितंबर को विदेशी मीडिया से चर्चा करेंगे, पाकिस्तान की नो इंट्री

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: