NEWSWING
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

 ममता बनर्जी दुर्गा पूजा कमेटियों को देंगी 10-10 हजार, लोकसभा चुनाव है लक्ष्य   

कोलकाता के अंदर लगभग 3000 और राज्य में 25 हजार दुर्गा पूजा कमेटियां हैं

113

Kolkata : ममता बनर्जी दुर्गा पूजा आयोजन समितियों को पूजा के लिए 10-10 हजार रुपए की आर्थिक मदद देगी. बता दें कि कोलकाता के अंदर लगभग 3000 और राज्य में 25 हजार दुर्गा पूजा कमेटियां हैं. सभी को 10-10 हजार रुपए मिलेंगे. इससे राज्य के 28 करोड़ रुपए खर्च होंगे. इसके अलावा ममता ने पूजा कमेटियों से लिये जाने वाले फायर लाइसेंस शुल्क की वसूली बंद करने और बिजली की दरों में छूट देने की भी बात कही. ममता बनर्जी ने सभी घोषणाएं दुर्गा पूजा आयोजन समिति के प्रतिनिधियों के साथ हुई बैठक में की.

दुर्गा पूजा 15 से 19 अक्टूबर के बीच होगी.  जानकार इसे सीधे तौर पर अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव से जोड़कर देख रहे हैं. कहा जा रहा है कि चुनाव के मद्देनजर यह फैसला हिंदुओं को लुभाने के लिए ममता बनर्जी ने लिया है.

इसे भी पढ़ें –  कई IAS जांच के घेरे में, प्रधान सचिव रैंक के अफसर आलोक गोयल की रिपोर्ट केंद्र को भेजी, चल रही विभागीय कार्रवाई

 ममता पर मुस्लिम तुष्टिकरण के आरोप लगते रहे हैं  

madhuranjan_add

 बता दें कि पश्चिम बंगाल में अक्सर दुर्गा पूजा पर सांप्रदायिक सौहार्द बिगड़ने की खबरें आती रही हैं, जिनमें ममता सरकार पर हमेशा मुस्लिमों का तुष्टिकरण और हिंदुओं को नजरअंदाज करने के आरोप लगते रहे हैं  पश्चिम बंगाल में मुहर्रम और दुर्गा पूजा को लेकर अक्सर विवाद होता रहा है . बीते साल भी मूर्ति विसर्जन और मुहर्र्म का विवाद कोलकाता हाई कोर्ट पहुंचा था, जिसके बाद ममता सरकार की काफी किरकिरी हुई थी. आरोप लगे थे कि एक वर्ग को संतुष्ट करने के लिए उन्होंने मूर्ति विसर्जन पर रोक लगा दी.  मूर्ति विसर्जन पर रोक के बाद भाजपा ने  ममता बनर्जी पर मुस्लिमों का तुष्टिकरण कर हिन्दुओं का अपमान करने का आरोप लगाया था. 

इसे भी पढ़ें – एक्शन में सीपी सिंह ! अपनी ही सरकार पर गरजे, कहा- पुलिस सहायता केंद्र का नाम बदलकर पुलिस…

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Averon

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: