West Bengal

#Malda : झाड़ फूंक के चक्कर में दो बच्चों की मौत, दो की हालत गंभीर,  ग्रामीणों ने कहा, बच्चों को भूत पकड़ा है 

विज्ञापन

Malda : पश्चिम बंगाल के मालदा जिले में इन दिनों लोगों में भूतों का आतंक देखा जा रहा है. इस बीच अंधविश्वास के चक्कर में फंसकर झाड़ फूंक करने से दो बच्चों की मौत हो गयी, जबकि दो बच्चे मालदा मेडिकल कॉलेज अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच झूल रहे हैं शुक्रवार रात मालदा के गाजोल थाने की अलाल ग्राम पंचायत के कदमतली गांव में इस घटना के बाद सनसनी फैल गयी.  गांव के लोगों का मानना है कि इन बच्चों को भूत पकड़ा है जिस वजह से उनकी मौत हो गयी. इतना ही नहीं भूत के डर से लोग घर से बाहर निकलने से कतरा रहे हैं.

इसे भी पढ़ें : #Purulia : विभिन्न राजनीतिक दलों के नेता और कार्यकर्त्ता TMC में शामिल हुए

लोगों ने घरों में खुद को कैद कर लिया है

लोगों ने घरों में खुद को कैद कर लिया है. दूसरी ओर गाजोल की तृणमूल कांग्रेस विधायक दीपाली विश्वास घटना को लेकर आश्चर्यचकित है. गांव के दो बच्चे की मौत की खबर मिलते ही शनिवार को वे मालदा मेडिकल कॉलेज अस्पताल पहुंचकर यहाँ भर्ती दो बच्चों से मिली. उन्होंने परिवार के लोगों के साथ बातचीत की. विधायक ने आज गांव में पहुंच कर लोगों को अंधविश्वास पर ध्यान नहीं देने की बात कही. कहा कि पुलिस एवं प्रशासन को जांच करने का आदेश दिया गया है. साथ ही स्वास्थ्य विभाग की ओर से गांव में मेडिकल टीम भेजे जाने की भी उन्होंने बात कही.

advt

इसे भी पढ़ें : #BJP के फायरब्रांड नेता के सुरेंद्रन बने केरल के प्रदेश अध्यक्ष, 240 एफआइआर, दंगों का भी आरोप है दर्ज

बच्चे जंगल में खेलने गये थे

पुलिस एवं स्थानीय सूत्रों के अनुसार मृत बच्चे का नाम सफिकुल आलम (5 ) व फिरोज रहमान (7 ) है. वहीँ मेडिकल कॉलेज में भर्ती बच्चे का नाम कोहिनूर खातून (6 ) व शबनूर खातून (3 )बताया जा रहा है. ये दोनों बहने हैं. प्राथमिक जांच के बाद पुलिस को पता चला कि कल दोपहर घर से कुछ दूर एक जंगल में चार बच्चे खेल रहे थे. कुछ देर बाद घर लौटते ही तभी बच्चे बेहोश हो गये. उनके मुंह से झाग निकलने लगा. परिवार के लोगों को शक हुआ कि इन बच्चों को भूत ने पकड़ लिया है.

रात भर ओझा द्वारा झाड़ फूंक का सिलसिला चलता रहा

इसके बाद भूत भगाने के लिए रात भर ओझा द्वारा झाड़ फूंक का सिलसिला चलता रहा. लंबे समय तक झाड़-फूंक किये जाने के बाद भी कोई लाभ नहीं हुआ तो आखिरकार इन बच्चों को मालदा मेडिकल कॉलेज व अस्पताल लाया गया. अस्पताल लाने के दौरान रास्ते में शफिकुल आलम की मौत हो गयी ,वहीं अस्पताल में इलाज के दौरान फिरोज रहमान ने दम तोड़ दिया.

भूत बच्चों को निशाना बना रहे हैं

कोहिनूर के पिता आसिफ शेख ने बताया कि गांव में  आतंक शुरू हुआ है. भूत बच्चों को निशाना बना रहे हैं. भूत की वजह से ही बच्चों की मौत हुई है. उन्होंने बताया इससे पहले भी कई लोगों को भूत पकड़ा था. दूसरी ओर मालदा मेडिकल कॉलेज व अस्पताल के चिकित्सक ने आशंका जताई कि जंगल में खेलने के दौरान हो सकता है बच्चे जहरीले फल खा लिये होंगे , जिस वजह से उसके शरीर में विषक्रिया शुरू हो गयी और यह हादसा हुआ. गाजोल थाने की पुलिस ने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के वास्तविक कारणों का पता चल पायेगा. एसपी अलोक राजोरिया ने कहा कि पुलिस घटना की जांच कर रही है.

adv

इसे भी पढ़ें :  #Shaheen_Bagh की महिलाएं अमित शाह से रविवार दो बजे मुलाकात करेंगी

 

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button