Bihar

आम लोगों को बालू आसानी से कम कीमत पर उपलब्ध होः नीतीश कुमार

  • अवैध बालू खनन को लेकर नीतीश सरकार सख्त
  • मुख्यमंत्री ने की खान एवं भूतत्व विभाग की समीक्षा

Patna : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 1 अणे मार्ग स्थित ‘संकल्प’ में खान एवं भूतत्व विभाग की समीक्षा की. खान एवं भूतत्व विभाग की प्रधान सचिव हरजोत कौर ने विभाग में किये जा रहे कार्यों की अद्यतन स्थिति की जानकारी दी. बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार से झारखंड के अलग होने के बाद बालू को ही राजस्व का एक मुख्य स्रोत माना जाता था.

सरकार में आने के बाद हमलोगों ने सभी क्षेत्रों में विकास का काम किया है, जिससे राजस्व के कई स्रोत बढ़े हैं. उन्होंने कहा कि उपभोक्ताओं को बालू आसानी से उचित कीमत पर प्राप्त हो सके, इसके लिए विभाग सतत् अनुश्रवण करे ताकि लोगों को किसी प्रकार की असुविधा न हो.

इसे भी पढ़ें:यौन शोषण मामले में सुनील तिवारी की जमानत याचिका एससी-एसटी स्पेशल कोर्ट ने की खारिज

advt

पर्यावरणीय एवं पारिस्थितिकी संतुलन को ध्यान में रखते हुए सारे कार्य किये जायें. बिहार में ऐतिहासिक, पुरातात्विक महत्व के पहाड़ों को संरक्षित रखना है. मुख्यमंत्री ने कहा कि विभाग अवैध खनन पर कठोरता से अंकुश लगाये और इसमें संलिप्त लोगों पर कठोर कानूनी कार्रवाई करें.

उन्होंने कहा कि अभी हाल में विभाग ने इस संबंध में व्यापक कार्रवाई की है. बैठक में उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद, खान एवं भूतत्व मंत्री जनक राम, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव दीपक कुमार, मुख्य सचिव त्रिपुरारी शरण, विकास आयुक्त आमिर सुबहानी, अपर मुख्य सचिव वित्त एस० सिद्धार्थ, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार, खान एवं भूतत्व विभाग की प्रधान सचिव हरजोत कौर, मुख्यमंत्री के सचिव अनुपम कुमार एवं मुख्यमंत्री के विशेष कार्य पदाधिकारी गोपाल सिंह सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे.

adv

इसे भी पढ़ें:सीबीआइ ने रूपा तिर्की की बैचमेट व रूममेट मनीषा से घंटों की पूछताछ

बैठक खत्म होने के बाद मंत्री जनक राम ने कहा कि सरकार अवैध बालू खनन को लेकर लगातार कार्रवाई कर रही है. हम आम लोगों से भी अपील करते हैं यदि उन्हें कोई सूचना मिले तो हमें बतायें, 24 घंटों के अंदर कार्रवाई की जायेगी. सरकार इस मामले में कोई समझौता नहीं करनेवाली है.

वहीं उन्होंने बताया कि सरकार का प्रयास है कि आम जनता को बालू आसानी से मिले. उसको लेकर भी लगातार सरकार कार्य कर रही है. वहीं उप मुख्यमंत्री के मामले पर जब सवाल किया गया तो मंत्री ने कहा कि इन मामलों पर चर्चा नहीं हुई. जिसने आरोप लगाया है उनसे सवाल करें.

इसे भी पढ़ें: आत्मसमर्पण करनेवाले नक्सलियों को ओपन जेल में रखें: मुख्यमंत्री

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: