Main SliderNationalNEWS

#Maharashtra: सीएम देवेंद्र फडणवीस ने दिया इस्तीफा, अस्थिरता के लिए शिवसेना को जिम्मेदार बताया

Mumbai : महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस ने शपथ लेने के महज तीन दिन बाद ही पद से इस्तीफा दे दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को फ्लोर टेस्ट का आदेश दिया था, लेकिन उन्होंने उसका इंतजार किये बगैर ही इस्तीफा दे दिया है.

देवेंद्र फडणवीस ने मीडिया से बात करते हुए कहा, “मैं यहां से सीधे गवर्नर हाउस जा रहा हूं और अपनी इस्तीफा उन्हें सौंप दूंगा.”

इसे भी पढ़ें : #JharkhandElection: OBC वोट बैंक साधने की कोशिश में हर दल, लगभग सभी कर रहे 27% आरक्षण की बात

पहले डिप्टी सीएम ने दिया इस्तीफा

उनसे पहले डिप्टी सीएम अजित पवार ने भी इस्तीफा दे दिया था. माना जा रहा है कि देवेंद्र फडणवीस और अजित पवार को यह लग रहा था कि वे फ्लोर टेस्ट में बहुमत साबित नहीं कर पायेंगे और इसके चलते दोनों ने पद से इस्तीफा दे दिया.

इस्तीफे का ऐलान करने से पहले देवेंद्र फडणवीस ने सूबे में अस्थिरता का शिवसेना पर ठीकरा फोड़ा. उन्होंने कहा कि हमने साथ मिलकर चुनाव लड़ा था और बहुमत हासिल किया था, लेकिन हमें जनता ने 105 सीटें देकर ज्यादा समर्थन दिया.

लेकिन, शिवसेना ने यह देखते हुए कि उसके बगैर सरकार नहीं बन सकती है तो वह सीएम की मांग पर अड़ गयी, जबकि ऐसी कोई तय नहीं हुई थी. शिवसेना ने सरकार गठन के लिए हमसे बात करने की बजाय एनसीपी से बात की.

यही नहीं शिवसेना पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि जिनके बारे में हमने सुना था कि वे मातोश्री से बाहर नहीं निकले, वे निकल-निकलकर तमाम लोगों से मिल रहे थे.

इसे भी पढ़ें : धनबाद: बार-बार रिपोर्ट तैयार करवाती है सरकार, फिर भी नहीं रुक रहा अवैध कोयले का कारोबार

शपथ से चौंकाया, लेकिन 3 दिन भी नहीं टिके

शनिवार को दोनों नेताओं ने सभी को चौंकाते हुए सीएम और डिप्टी सीएम की शपथ ली थी. तब देवेंद्र फडणवीस ने कहा था कि अजित पवार ने एनसीपी विधायकों के समर्थन का पत्र सौंपा है और उनके पास बहुमत है.

हालांकि कुछ देर बाद ही एनसीपी के मुखिया शरद पवार ने कहा कि यह अजित पवार का निजी फैसला है और पार्टी इससे सहमत नहीं है. इसके बाद उन्होंने ऐसा दबाव बनाया कि सरकार तीन दिन भी नहीं चल सकी.

इसे भी पढ़ें : क्या टीटीपीएस को बंद करने की ओर धकेल रहा है प्रबंधन का ये कदम!

Related Articles

Back to top button