GiridihJharkhand

उदीयमान सूर्य के अर्घ्य देने के साथ गिरिडीह में महापर्व छठ हुआ संपन्न

Giridih : लोकास्था और सूर्योपासना का महापर्व छठ पूजा शुक्रवार को गिरिडीह में उदयीमान सूर्य और मां छठ को अर्घ्य देने के साथ संपन्न हुआ. प्रमुख छठ घाट अरगाघाट समेत गिरिडीह के तमाम घाटों में व्रतियों के साथ भक्तों की भीड़ जुटी थी.

अहले सुबह ही व्रती और भक्तों की भीड़ छठ घाटों पर जाने के लिए निकली. डाला लिए भक्त घाट पहुंचे, तो व्रती भी पूरे आस्था के साथ घरों से निकली और घाट पहुंची. जहा दिन चढ़ने के साथ जैसे ही भगवान सूर्य उदय होना शुरू हुए. तो वर्ती पूजा अर्चना के लिए जुट गई. नदी के जल से स्नान कर व्रतियों ने हाथ में फल और पूजन सामान से भरा डाला लिया और सूर्य की तरफ परिक्रमा करने के साथ भगवान सूर्य और छठ मां का ध्यान करते हुए दूध और जल से अर्घ्य दिया.

इसे भी पढ़ें : जमशेदपुर : पुलिस की पिटाई से आहत कदमा के युवक ने की खुदकुशी

बच्चों से लेकर बड़े और युवाओं से लेकर महिलाओं में अर्घ्य देने को लेकर उत्साह और रहा. हर कोई अटूट आस्था के इस महापर्व में तालाब में डुबकी लगाता दिखा. लोगों ने परिवार के सुख समृद्धि और निरोगी काया का आशीर्वाद मांगते हुए अर्घ्य प्रदान किया.

इस मौके पर महापर्व के लोकगीत उगी है सूर्य देव, दोनों हाथ जोड़वा, अरग के रे बैरवा जैसे लोकगीत कानो में मिश्री घोल रहे थे. पूजा अर्चना के बाद ही व्रतियों के पांव छूकर उनका आशीर्वाद लेने को लेकर भक्त आतुर दिखे. इन्होंने आशीर्वाद लिया और सिंदूर का तिलक भी लगाया. जबकि महिलाओं ने अपने सुहाग की लंबी आयु की कामना करते हुए सिंदूर लगवाया और महापर्व का प्रसाद लिया.

इसे भी पढ़ें : जमशेदपुर: उदीयमान सूर्य को अर्घ्य के साथ आस्था का महापर्व चैती छठ का समापन

Related Articles

Back to top button