न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सिद्धगंगा मठ के महंत शिवकुमार स्वामी का 111 साल की उम्र में निधन, पीएम ने जताया शोक

1,008

Bengaluru: कर्नाटक के तुमाकुरु में सिद्दगंगा मठ के महंत शिवकुमार स्वामी का सोमवार को निधन हो गया. 111 वर्ष की स्वामी जी फेफड़े के संक्रमण से पीड़ित थे. और इलाज के दौरान मठ में आज उन्होंने आखिरी सांसें ली.

कर्नाटक के सीएम कुमारस्वामी ने तुमाकुरु में मीडिया से कहा, “परम आदरणीय, स्वामीजी का फेफड़े के संक्रमण के इलाज के दौरान मठ में पूर्वाह्न् 11.44 बजे निधन हो गया. राज्य सरकार ने शिवकुमार स्वामी के निधन पर तीन दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है. इसके अलावा कल पूरे राज्य में सरकारी छुट्टी रहेगी. वहीं देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी उनके निधन पर दुख व्यक्त किया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी ट्वीट कर शिवकुमार स्वामी को श्रद्धांजलि दी.

अंतिम दर्शन के लिए VIP का तांता

hosp3

शिवकुमार स्वामी के अंतिम दर्शन करने के लिए मठ में वीआईपी लोगों का तांता लगा हुआ है. सोमवार को कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी. कुमारस्वामी, पूर्व मुख्यमंत्री बीएस. येदियुरप्पा, सदानंद गौड़ा शिवकुमार स्वामी का हालचाल लेने पहुंचे थे. इससे पहले प्रदेश के उप मुख्यमंत्री जी. परमेश्वर मठ भी यहां का दौरा कर चुके हैं. वहीं तुमकुरू आने वाले श्रद्धालुओं के लिए राज्य सरकार की ओर से स्पेशल बसें चलाई जा रही हैं. ताकि श्रद्धालुं स्वामी के अंतिम दर्शन कर सकें. ये बसें राज्य के अलग-अलग शहरों से चलाई जाएंगी.

 

शिवकुमार स्वामी को भारत रत्न देने की मांग

बीती 19 जनवरी को सीएम कुमारस्वामी ने मांग की थी कि केंद्र सरकार को तुमाकुरु सिद्दगंगा मठ के प्रमुख 111 वर्षीय शिवकुमार स्वामी को भारत रत्न से सम्मानित करना चाहिए. कुमारस्वामी ने यहां मीडिया से कहा, ‘मैंने 2006 में स्वामी को उनके अच्छे काम के लिए भारत रत्न देने की सिफारिश की थी. यदि जरूरी हुआ तो हम इस सिलसिले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलेंगे.” 2006 में वह जनता दल-सेक्युलर (जेडी-एस)-भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) गठबंधन की सरकार में मुख्यमंत्री थे. वहीं भाजपा की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा ने भी कहा कि पार्टी प्रधानमंत्री से अनुरोध करेगी कि वह शिवकुमार स्वामी को यह सम्मान प्रदान करें.

इसे भी पढ़ेंः “कोई पैसा दे तो ले लो, लेकिन वोट उसे मत दो” वाले बयान पर फंस सकते हैं रघुवर दास, चुनाव आयोग ले सकता है संज्ञान

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: