Corona_UpdatesNational

मध्य प्रदेशः ड्यूटी के दौरान संक्रमित हुए इंदौर के थाना प्रभारी की मौत, सीएम शिवराज ने जताया शोक

Indore: देश में कोरोना वायरस का आंतक है. वहीं मध्य प्रदेश का इंदौर जिला इस वायरस से सबसे अधिक प्रभावित है. इस वायरस के संक्रमण से मध्य प्रदेश में एक और पुलिस अधिकार की मौत हो गयी है.

कोरोना वायरस संक्रमण की जद में आये 58 वर्षीय पुलिस इंस्पेक्टर यशवंत पाल की मंगलवार तड़के एक निजी अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गयी. अधिकारियों ने बताया कि उज्जैन के नीलगंगा थाने के प्रभारी ने इंदौर के अरविंदो अस्पताल में इलाज के दौरान आखिरी सांस ली.

इसे भी पढ़ेंः#Jharkhand में कोरोना से तीसरी मौतः रांची में 54 साल की महिला ने तोड़ा दम, पति की संक्रमण से पहले ही गयी थी जान

Catalyst IAS
ram janam hospital

थाना प्रभारी की मौत पर सीएम ने जताया शोक

The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पुलिस निरीक्षक के निधन पर शोक व्यक्त किया है. उन्होंने ट्विटर पर कहा, “कोविड-19 से लड़ते हुए कर्तव्य की बलिवेदी पर प्राण त्याग देने वाले उज्जैन के नीलगंगा क्षेत्र के थाना प्रभारी को विनम्र श्रद्धांजलि. ईश्वर उनकी पुण्य आत्मा को अपने चरणों में स्थान दें व शोकाकुल परिजनों को संबल प्रदान करें. हम सब उनके परिवार के साथ हैं.”

साथ ही शोकाकुल परिवार को सरकार की ओऱ से सुरक्षा कवच के रुप में 50 लाख रुपये, असाधारणप पेंशन, दिवगंत पुलिस अधिकारी की बेटी फाल्गुनी को उपनिरीक्षक पद पर नियुक्ति और दिंवगत यशवंत पाल को मरणोपरांत कमर्वीर पदक से सम्मानित किया जायेगा.

48 घंटे से वेंटिलेटर पर थे यशवंत पाल

उज्जैन के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एएसपी) रूपेश कुमार द्विवेदी ने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमण के बाद पुलिस निरीक्षक का उज्जैन के एक निजी अस्पताल में चार दिन तक इलाज चला था. हालत गंभीर होने पर उन्हें 10 दिन पहले इंदौर के अरविंदो अस्पताल भेजा गया था. लेकिन तमाम कोशिशों के बावजूद उनकी जान नहीं बचायी जा सकी.

एएसपी ने बताया कि पुलिस निरीक्षक के शोकसंतप्त परिवार में उनकी पत्नी और दो बेटियां हैं. उनकी पत्नी नजदीकी धार जिले में तहसीलदार के रूप में पदस्थ हैं.

इसे भी पढ़ेंः||Opinion|| #Lockdown 2.0: 5 राज्य, 4 मामलेः क्या भाजपा शासित राज्यों को लॉकडाउन के नियम तोड़ने की छूट है!

अरविंदो अस्पताल के चिकित्सक विनोद भंडारी ने बताया कि उनके अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ने वाले पुलिस निरीक्षक पिछले 48 घंटे से वेंटिलेटर पर थे. उन्हें सांस लेने में गंभीर समस्या हो रही थी. उन्हें उच्च रक्तचाप (हाइपरटेंशन) था.

अधिकारियों ने संदेह जताया कि पुलिस निरीक्षक उज्जैन की अम्बर कॉलोनी के निषिद्ध क्षेत्र में ड्यूटी के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण की जद में आये थे.

इंदौर थाना प्रभारी की पहले ही जा चुकी है जान

इससे पहले, इंदौर के जूनी इंदौर थाने के प्रभारी के रूप में ड्यूटी के दौरान 41 वर्षीय पुलिस निरीक्षक कोरोना वायरस से संक्रमित पाये गये थे. उनकी शनिवार देर रात इलाज के दौरान मौत हो गयी थी.

अधिकारियों के मुताबिक इंदौर के पुलिस निरीक्षक हालांकि इलाज के बाद कोरोना वायरस संक्रमण से मुक्त हो गये थे. चिकित्सकों ने संदेह जताया है कि उनकी मौत का तात्कालिक कारण पल्मोनरी एम्बोलिज्म (धमनी में खून का थक्का जमने से जुड़ी समस्या) है. लेकिन इस बात की भी संभावना है कि उनमें पल्मोनरी एम्बोलिज्म की समस्या कोरोना वायरस संक्रमण के कारण ही उत्पन्न हुई हो.

इसे भी पढ़ेंः#Covid-19: 80 फीसदी कोरोना पॉजिटिव में संक्रमण के लक्षण नहीं मिलने से बढ़ी चिंता

3 Comments

  1. 114965 281678Thank you for your extremely great details and feedback from you. car dealers in san jose 823642

  2. 409746 627424Thank you for your really good details and respond to you. I require to verify with you here. Which isnt 1 thing I often do! I get pleasure from reading a publish that can make folks feel. Additionally, thanks for allowing me to remark! 309544

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button