न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मध्यप्रदेश :  कर्जमाफी नहीं मिली, आदिवासी किसान ने की आत्महत्या

मध्यप्रदेश में नवगठित कांग्रेस सरकार की कर्जमाफी की योजना के दायरे में कथित रूप से नहीं आने के कारण खंडवा जिले की पंधाना विधानसभा क्षेत्र के अस्तरिया गांव के 45 वर्षीय   आदिवासी किसान ने पेड़ पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली.

1,305

Bhopal : मध्यप्रदेश में एक आदिवासी किसान द्वारा आत्महत्या किये जाने की खबर है. जानकारी के अनुसार मध्यप्रदेश में नवगठित कांग्रेस सरकार की कर्जमाफी की योजना के दायरे में कथित रूप से नहीं आने के कारण खंडवा जिले की पंधाना विधानसभा क्षेत्र के अस्तरिया गांव के 45 वर्षीय  आदिवासी किसान ने पेड़ पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. बता दें कि किसान का शव शनिवार सुबह सात बजे उसी के खेत के एक पेड़ से रस्सी से लटकता हुआ मिला. किसान के परिजनों ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस सरकार द्वारा हाल ही में जारी कर्जमाफी के आदेश के बाद भी वह उस दायरे में नहीं आ सका, क्योंकि राज्य सरकार ने 31 मार्च 2018 तक का कर्ज माफ करने की घोषणा की है.

किसान का शव खेत के पेड पर सुबह लटका हुआ मिला

जानकारी के अनुसार मृत किसान पर इस तिथि के बाद का राष्ट्रीयकृत तथा सहकारी बैंकों का करीब तीन लाख रुपये का कर्ज था. पंधाना पुलिस थाना प्रभारी शिवेंद्र जोशी ने बताया कक अस्तरिया गांव के किसान जुवान सिंह  का शव खेत के पेड पर सुबह लटका हुआ मिला. जोशी ने बताया कि घटना की जानकारी लगते ही पंधाना पुलिस की टीम ने मौके पर पहुंच कर शव कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया.  जोशी ने बताया कि इस संबंध में मामला दर्ज कर लिया गया है और जांच चल रही है.  जांच के बाद ही यह पता चलेगा कि किसान द्वारा   आत्महत्या किये जाने का कारण क़्या था.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: