JharkhandJharkhand PoliticsJharkhand Vidhansabha ElectionRanchi

मधुपुर उपचुनावः डीसी ने मजिस्ट्रेट और पुलिस अधिकारियों को चुनाव में Real Time Action और Reporting करने का दिया मंत्र

बाइक दस्ता करेगा दूरस्थ मतदान केंद्रों की निगरानी और सुरक्षा

Ranchi:  मधुपुर उपचुनाव के लिए देवघर जिला प्रशासन अपनी तैयारियों को लगातार अंजाम देने में लगा है. 17 अप्रैल को मतदान होना है. इसे देखते हुए डीसी सह जिला निर्वाचन पदाधिकारी मंजूनाथ भजंत्री लगातार तैयारियों को अंतिम रूप देने में लगे हैं. चुनाव के दिन मधुपुर में भयमुक्त माहौल और उप चुनाव के सफल संचालन के लिए मजिस्ट्रेट और पुलिस पदाधिकारियों को उन्होंने रविवार को विशेष दिशा-निर्देश दिये.

मधुपुर प्रखण्ड के सभी सेक्टर दंडाधिकारियों और पुलिस पदाधिकारियों द्वारा की गयी तैयारियों और किये जाने वाले कार्यों की समीक्षा बैठक रविवार को की गयी. इसमें डीसी ने कहा कि चुनाव में सेक्टर दंडाधिकारियों और पुलिस पदाधिकारियों की भूमिका महत्वपूर्ण है.

सभी लोग रियल टाइम एक्शन और रियल टाइम रिपोर्टिंग के अलावा उप चुनाव के दौरान आपसी समन्वय के साथ स्वच्छ, निष्पक्ष, शांतिपूर्ण व भयमुक्त वातावरण में चुनाव संपन्न कराने में अपना योगदान दें.

इसे भी पढ़ेंः Maharashtra कैबिनेट की अहम बैठक आज, सरकार लॉकडाउन पर ले सकती है फैसला

चुनाव आयोग के निर्देश का अनुसरण जरूरी

डीसी ने चुनाव को लेकर चल रहे कार्यों की बिंदुवार समीक्षा की. कहा कि भारत निर्वाचन आयोग के दिशा निर्देशों का शत-प्रतिशत अनुपालन करना होगा. इस संबंध में उन्होंने संबंधित अधिकारियों व पुलिस पदाधिकारियों को आवश्यक और उचित दिशा-निर्देश भी दिये. कहा कि चुनाव में सेक्टर दंडाधिकारियों व सेक्टर पुलिस पदाधिकारियों का कार्य सबसे महत्वपूर्ण और अहम होता है.

सभी सेक्टर मजिस्ट्रेट और पुलिस पदाधिकारी डिस्पैच सेंटर (कुमैठा) से होते हुए निर्धारित रुट लाइन से ही विभिन्न मतदान केंद्रों पर मतदानकर्मियों और ईवीएम तथा वीवीपैट मशीनों को ले जायेंगे. निर्धारित रूट से ही सभी अपनी जगह पर पहुंचें ताकि समय से मतदान केंद्र एवं बज्रगृह पहुंचा जा सके.

साथ ही सभी सेक्टर दंडाधिकारी एवं पुलिस अधिकारियों से कहा कि अपने-अपने मतदान केंद्रों का निरीक्षण करते हूए (AMF) के तहत सारी सुविधाओं को उपलब्ध कराते हुए अपना प्रतिवेदन जिला निर्वाचन कार्यालय को समय पर उपलब्ध करा दें.

मतदान केंद्रों पर निर्वाचन संबंधी लेखनी का कार्य, महिला व दिव्यांग मतदाताओं को मिलने वाली सुविधा के साथ (AMF) की सुविधा आदि की व्यवस्था जरूर हो. अगर कमी रह गयी है तो इसे ससमय सुनिश्चित करा लिया जाये. वैसे मतदान केन्द्र जो मुख्य मार्ग से थोड़ी दूरी पर हैं और रास्ता थोड़ा संकीर्ण हो, उन मतदान केद्रों की निगरानी और सुरक्षा के लिए बाइक दस्ता का उपयोग किया जाये.

वैसे मतदान केंद्र जहां की सड़क की स्थिति अच्छी नहीं है, उन मार्गों पर मोरम, स्टोन डस्ट आदि के माध्यम से मरम्मत करा दें. जिला परिवहन पदाधिकारी को निदेशित किया गया कि सभी सेक्टर दंडाधिकारी द्वारा गाडियों के लिए दी गयी सूचियों के अनुसार और उनकी जरूरतों को देखते हुए बड़ी या छोटी गाड़ियां उपलब्ध करायी जाये.

इसे भी पढ़ेंः ब्रिटेन  में Oxford / AstraZeneca का कोविड रोधी टीका लगवाने वालों में से 7 लोगों की मौत

6 कैंडिडेट हैं मैदान में

गौरतलब है कि मधुपुर उपचुनाव के लिए कुल 6 कैंडिडेट मैदान में हैं. इनमें सबसे मुख्य मुकाबला मंत्री हफीजुल हसन और भाजपा कैंडिडेट गंगा नारायण सिंह के बीच होने की उम्मीद है. बाकी चार निर्दलीय कैंडिडेट भी भाग्य आजमाने उतरे हैं. यह सीट पूर्व मंत्री हाजी हुसैन अंसारी के निधन से खाली हुई है.

इसे भी पढ़ेंः छत्तीसगढ़ में 22 जवानों के शहीद होने के बाद झारखंड पुलिस भी अलर्ट पर, छत्तीसगढ़ और उड़ीसा सीमा पर बढ़ी चौकसी  

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: