Corona_UpdatesNational

#MadeInIndia: लोकल को वोकल बनाने की राह पर गृह मंत्रालय, एक जून से CAPF कैंटीन में बिकेंगे सिर्फ स्वेदशी उत्पाद

New Delhi: प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना वायरस और लॉकडाउन के कारण पैदा हुए हालात से हार मानने की बजाये उसे अवसर में बदलने की वकालत की थी. मंगलवार को देश के नाम अपने संबोधन में उन्होंने कहा था कि इस आपदा को हमें अवसर में बदलना है, और देश को आत्मनिर्भर अभियान के जरिये आगे ले जाना है.

Jharkhand Rai

इसे भी पढ़ेंःलद्दाख में सैनिक अलर्ट, चीन ने 1962 की जंग के गवाह गलवान नदी के पास लगाया टेंट

इसी आत्मनिर्भर अभियान के तहत पीएम मोदी ने लोकल को वोकल बनाने की बात कही थी. यानी स्वदेशी उत्पाद का इस्तेमाल और उसको बढ़ावा देना. अब पीएम के इस ऐलान का असर भी दिखाई देने लगा है.

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इस दिशा में एक बड़ा फैसला लिया है. जिसके तहत केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (सीएपीएफ) की कैंटीन में एक जून से केवल स्वदेश निर्मित वस्तुओं की ही बिक्री होगी.

इसे भी पढ़ेंः#Corona_Updates : ओडिशा में 101 और  राजस्थान में 87 नये मामले, अनेक स्थानों पर कर्फ्यू जारी

CAPF कैंटीन में बिकेंगे सिर्फ स्वेदशी उत्पाद

गृह मंत्रालय ने पीएम के ऐलान पर यह निर्णय लिया है कि सभी केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (CAPF) की कैंटीनों पर अब सिर्फ स्वदेशी प्रोडक्ट की ही बिक्री होगी. और ये आदेश देशभर की सभी कैंटीनों पर 1 जून से लागू हो जायेगा. अनुमान है कि इससे लगभग 10 लाख सीएपीएफ कर्मियों के 50 लाख परिजन स्वदेशी उत्पादों का उपयोग करेंगे.

गृह मंत्रालय के इस फैसले की जानकारी गृह मंत्री अमित शाहने ट्वीट कर के दी है. साथ ही उन्होंने स्वदेशी उत्पादों के इस्तेमाल करने को लेकर देश की जनता से अपील भी की है.

अपने अपील वाली ट्वीट में उन्होंने लिखा, ‘मैं देश की जनता से भी अपील करता हूं कि आप देश में बने उत्पादों को अधिक से अधिक उपयोग में लायें व अन्य लोगों को भी इसके प्रति प्रोत्साहित करें. हर भारतीय अगर भारत में बने उत्पादों (स्वदेशी) का उपयोग करने का संकल्प ले तो पांच वर्षों में देश का लोकतंत्र आत्मनिर्भर बन सकता है.’

इसे भी पढ़ेंःपढ़ें, लंदन में #Corona मरीजों के इलाज में लगे भारतीय मूल के डॉ. सज्जाद पठान का अनुभव

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: