Fashion/Film/T.VLITERATUREMain Slider

खामोशी से चले गये गीतकार अभिलाष…इतनी शक्ति हमें देना दाता जैसे गीत लिखे थे

Mumbai : संगीत की दुनिया से एक और अजीम फनकार खामोशी से इस दुनिया से रूख्सत हो गया. रविवार की रात गीतकार अभिलाष ने इस फानी दुनिया को छोड़ दिया. बताया जाता है कि उन्हें कैंसर था. बीते मार्च में उन्होंने पेट के ट्यूमर का ऑपरेशन कराया था. इसके बाद से ही उनकी तबियत खराब चल रही थी. अभी दो दिन पहले ही गायक एसपी बालासुब्रमण्यम का भी निधन हो गया था. अब गीतकार अभिलाष भी नहीं रहे. उनका जाना संगीत प्रेमियों को रूला गया. उन्हें मध्य रात्रि में ही गोरेगांव पूर्व के शिव धाम में अंतिम संस्कार किया गया. उनके अंतिम संस्कार में निकट संबंधी और परिजन मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें :शारजाह में हो रही छक्कों की बरसात, दो मैचों में 62 छक्के लगे

600 से अधिक स्कूलों में प्रार्थना गीत के रूप में गाया गया

गीतकार अभिलाष ने इतनी शक्ति देना हमें दाता.. वैसे तो फिल्म के लिए लिखा था. पर इस गीत का असर ऐसा था कि यह भारत के 600 से अधिक विद्यालयों में प्रार्थना गीत के रूप में गाया जाता था. इस गीत का अनुवाद विश्व की आठ भाषाओं में किया गया है. इसे वहां भी प्रार्थना गीत के रूप में गाया जाता है. इस गीत के मेल और फीमेल दो संस्करण हैं. एक में पुष्पा पागधरे, सुषमा श्रेष्ठ की अवाज है तो दूसरे संस्करण में घनश्याम वासवानी, अशोक खोसला, मुरलीधर और शेखर सावकार ने अवाज दिया है.

इसे भी पढ़ें :बिहार चुनाव : क्या तेजप्रताप के खिलाफ पत्नी ऐश्वर्या उतरेंगी चुनावी मैदान में !

कलाश्री अवार्ड से हुए थे सम्मानित 

अभिलाष को पूर्व राष्ट्रपति ज्ञानी जैल सिंह ने कलाश्री अवॉर्ड से सम्मानित किया था. एक साधारण जीवन और लाइमलाइट से दूर जिंदगी जीनेवाले थे अभिलाष. इतनी शक्ति हमें देना दाता के अलावा.., अभिलाष ने आज की रात न जा.., सांझ भई घर आजा.., तुम्हारी याद के सागर में.., वो जो खत मुहब्बत में…, संसार है इक नदिया.., तेरे बिना सूना मेरे मन का मंदिर जैसे गीतों को भी लिखा. उन्होंने कई फिल्मों में पटकथा संवाद लेखक के तौर पर भी योगदान दिया. अभिलाष के जाने के बाद भी विद्यालयों में उनके उनके लिखे गीत गाये जाते रहेंगे. वे हमेशा स्मृतियों में रहेंगे.

इसे भी पढ़ें :बॉलीवुड ड्रग्स कनेक्शन : अब करण जौहर की पार्टी के वीडियो पर एनसीबी की नजर

 

adv
advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: