न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

लव जिहाद मामला: नाबालिग के परिजनों ने एसपी से की फरियाद

248

Dumka: जिले में एक और लव जिहाद का मामला प्रकाश में आया है. मामला जिले के नक्सल प्रभावित थाना क्षेत्र शिकारीपाड़ा का है. जहां, एक नाबालिग को प्रेम की जाल में फंसा मुस्लिम धर्मावलंबी युवक के द्वारा यौन शोषण करने का मामला सामने आया. मामले में नाबालिग पीड़िता फिलहाल पिछले चार दिनों से सीडब्लूसी कार्यालय में है. वहीं दूसरी ओर आरोपी युवक आजाद घूम रहा है. मामले को लेकर नाबालिग के परिजनों ने बुधवार को एसपी किशोर कौशल को आवेदन सौंपकर न्याय की गुहार लगायी है.

इसे भी पढ़ें: रांची से अगवा युवती से सामूहिक दुष्‍कर्म मामले के सभी चार आरोपी 48 घंटे में गिरफ्तार

एसपी को लिखे आवेदन में कहा ‘थाने से डरा-धमका कर भगा दिया’

आवेदन में स्थानीय थाना प्रभारी मनोज ठाकुर पर डराने-धमकाने का आरोप लगाया है. मामले पर नाबालिग पीड़िता के माता-पिता का कहना है कि थाना क्षेत्र के कोल्हाबाजार निवासी आरोपी मुख्तार अंसारी 8वीं में पढ़ने वाली उसकी नाबालिग बेटी को बहला-फुसलाकर अपने घर ले जाकर यौन शोषण किया. बाद में खोजबीन के बाद 12 सितंबर को आरोपी के घर में लड़की के होने की सूचना परिजनों को मिली. परिजनों ने इसकी सूचना पुलिस को दी. साथ ही स्थानीय स्तर पर पंचायत में बांड लिखवा नाबालिग लड़की को उसके परिजनों को आरोपी ने सौंपा. इसके बाद भी लड़की परिजनों के साथ जाने से इंकार कर दी. इस पर आरोपी युवक फिर से लड़की को अपने साथ रख लिया. इसकी सूचना परिजनों ने पुलिस को दी. पुलिस मौके पर पहुंचकर आरोपी युवक सहित लड़की को बरामद किया. इस बीच मुहर्रम पर्व होने का हवाला देते हुए थाना प्रभारी पर तीन दिनों तक युवती और आरोपी को थाना में रखने का आरोप लगाया गया है. बाद में पुलिस युवक को छोड़ दिया और नाबालिग लड़की को उसके परिजनों को सौंप दिया. आरोपी युवक फिर से 20 सितंबर को अपने साथी अब्दुल अंसारी के साथ युवती को लेकर बाईक से फरार हो गया. जिसकी सूचना परिजनों ने पुलिस को दी. इसके बाद थाना प्रभारी ठाकुर ने यह कह परिजनों को भगा दिया कि उसकी बेटी का ही नहीं उन्हें पूरे थाना क्षेत्र का ख्याल रखना पड़ता है. इसके बाद नाबालिग को पुलिस बरामद कर सीडब्लूसी को सौंप दिया गया. उसके बाद परिजनों ने न्याय की गुहार के लिए एसपी कार्यालय का दरवाजा खटखटाया है. परिजनों ने बताया कि न्याय को लेकर मुख्यमंत्री जनसंवाद सहित मुख्यमंत्री से मिलने और न्यायलय के शरण में जाने से पीछे नहीं हटेंगे.

इसे भी पढ़ें: रांची से अगवा युवती से सामूहिक दुष्‍कर्म मामले के सभी चार आरोपी 48 घंटे में गिरफ्तार

क्या कहते है पदाधिकारी

इस मामले में शिकारीपाड़ा के थाना प्रभारी मनोज ठाकुर ने बताया कि नाबालिग की शादी उसके माता-पिता उसकी मर्जी के बगैर कहीं अन्य तय कर चुके थे. नाबालिग ने जबरन शादी पर आत्महत्या की धमकी दी थी. मामले में कार्रवाई करते हुए पुलिस की ओर से नाबालिग को समक्ष ऑथरिटी सीडब्लूसी को सौंप दी गई है. सीडब्लूसी के समक्ष उसके माता-पिता का बयान दर्ज करवाया गया है. अधिकृत ऑथरिटी ही मामले में कार्रवाई के लिए सक्षम है.

दुमका के सीडब्‍लूसी अध्‍यक्ष मनोज कुमार ने बताया कि सीडब्लूसी में दर्ज बयान के मुताबिक परिजन आरोपी के विरूद्ध लिखित शिकायत लेकर थाना पहुंचे थे. जहां थाना प्रभारी ने डरा-धमका कर भगा दिया. मामले में थाना प्रभारी के द्वारा दी गयी सूचना एवं परिजनों के बयान का मिलान कर एसपी को प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई का निर्देश दिया जायेगा. साथ ही थाना प्रभारी से मामला दर्ज नहीं करने को लेकर स्पष्टीकरण पूछा जायेगा.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Open

Close
%d bloggers like this: