Lead NewsNationalOFFBEAT

हादसे में पैर खोया पर हौसला नहीं, नरेश एक पैर से 40KM साइकिल चलाकर आते- जाते हैं फैक्ट्री, देखें VIDEO

2010 में ट्रेन से हुई दुर्घटना में कट गया था नरेश का एक पैर

Aligarh : उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले में नरेश नाम के दिव्यांग व्यक्ति के हौसले को सलाम किया जा सकता है. नरेश का एक पैर है, लेकिन वह रोज 40 किलोमीटर साइकिल चलाकर अपने परिवार का पालन-पोषण करने के लिए हार्डवेयर फैक्ट्री में काम करने के लिए जाते हैं. उसे देखकर लोग ताज्जुब करते हैं.

इसे भी पढ़ें : घर में घुसकर मोबाइल की चोरी, गिरफ्तार

ऐसे हुआ हादसा

मगर, नरेश हमेशा से ऐसा नहीं था, वर्ष 2010 में एक हादसे में उसने एक पैर गंवा दिया था. उसकी एक पूरी टांग ट्रेन से कट गई थी. कई सालों तक उसे दिक्कत हुई और पीड़ा झेली. मगर. नरेश ने अपनी मेहनत और लगन नहीं छोड़ी. वे साइकिल लेकर गांव से निकलते हैं और वे रोज एक पैर से साइकिल चलाते हुए फैक्ट्री जाते हैं. रास्ते में सामने वाला उसे देखकर जरूर सोचने लग जाता होगा कि क्या हौसला है…

advt

इसे भी पढ़ें : धुर्वा में 301 एकड़ में फ्लैट बनाएगा आवास बोर्ड

adv

अलीगढ़ के नरेश का हौसला

 

सोशल मीडिया पर वायरल हुआ वीडियो

नरेश का एक वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है, जिसमें वह सड़क पर अपने एक पैर से साइकिल चलाते दिख रहे हैं. नरेश अलीगढ़ के अतरौली क्षेत्र के लोधा नगला के रहने वाले हैं. उनके पड़ोसियों का कहना है कि, नरेश का जीवन दिव्यांगों के लिए एक मिसाल बन चुका है.
2010 में हुई दुर्घटना में अपना एक पैर गंवाने के बाद भी उन्होंनने हिम्मलत नहीं हारी. वह रोज लगभग 40 किलोमीटर साइकिल चलाकर अपना काम करने जाते हैं. उन्हें अलीगढ़ की एक हार्डवेयर फैक्ट्रीई में जाना होता है.. जो कि घर से 20 किलोमीटर दूर है.

इसे भी पढ़ें : बर्मामाइंस मिल एंड गोडाउन एरिया में चोरी, पांच दिनों बाद दर्ज हुआ मामला

परिजनों पर बोझ नहीं नरेश

साइकिल पर सवार नरेश का संतुलन लोगों को अक्सर हैरान कर देता है. गांव वालों के मुताबिक, नरेश को रोज एक निर्धारित समय पर रामघाट रोड पर साइकिल चलाते देखा जा सकता है. वहीं, नरेश के परिवार के लोग कहते हैं कि, अपना एक पैर न होने के बावजूद नरेश उन पर बोझ नहीं हैं.

सरकारी नौकरी मिल जाए

परिजन बताते हैं कि ट्रेन हादसे में रेलवे से जो आर्थिक मदद मिली थी वह इलाज में खर्च हो गई. नरेश मेहनत-मजदूरी करके ही अपनी जीविका चला रहे हैं. उनकी हसरत है कि कोई सरकारी नौकरी मिल जाए तो उनका भला हो जाए

इसे भी पढ़ें :BIG ROAD ACCIDENT : ट्रक-बस की टक्कर में 14 लोगों की मौत, 30 से अधिक घायल

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: