न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

लॉरेटो कान्वेंट की प्राचार्य ने अभिभावकों को बुला कर कहा- तिपहिया वाहनों की एंट्री बंद होगी, करें अपनी व्यवस्था

हम अकेले लागू करेंगे डीटीओ के आदेश को

134

Ranchi: आईसीएसई बोर्ड से संबद्ध लॉरेटो कान्वेंट प्रबंधन स्कूल परिसर में तिपहिया वाहन और मारूति वैन की एंट्री पर सख्त कदम उठाने का निर्णय लिया है. स्कूल की प्राचार्य मोनिका रोजारियो ने सभी अभिभावकों को बुला कर स्पष्ट कर दिया है कि दुर्गा पूजा के बाद विद्यालय के गेट में ऑटो चालकों की एंट्री बंद कर दी जायेगी. प्राचार्य के तुगलकी फरमान से अभिभावकों में काफी नाराजगी है. प्राचार्य ने कहा है कि वैसे मारूति वैन ही स्कूल परिसर में प्रवेश कर पायेंगे, जो सुरक्षा मानकों के तहत वैन के अंदर सीसीटीवी कैमरा लगा कर रखे हों. उन्होंने अभिभावकों से यह भी कहा कि अकेले लॉरेटो कान्वेंट स्कूल में जिला परिवहन पदाधिकारी के उस आदेश का पालन किया जायेगा, जिसमें ऑटो का स्कूलों में प्रवेश पर मनाही की गयी है. उन्होंने अभिभावकों से कहा कि वे खुद अपनी बच्चियों की सुरक्षा का उपाय करें कि वे कौन सा माध्यम अपनाना चाहते हैं. अभिभावकों ने जब यह जानना चाहा कि डीटीओ का क्या आदेश है. इस पर कहा गया कि हमें निर्देश दिया गया है. अन्य स्कूल क्या कर रहे हैं. इसका कोई मायने-मतलब नहीं रहता है. सिस्टर रोजारियो ने यह भी कहा कि मारूति वैन में सिर्फ चार बच्चे ही बैठेंगे. इसमें सीसीटीवी और बच्चियों के लिए स्मार्ट चिप भी लगाना जरूरी होगा. ताकि बच्चियों के मूवमेंट पर ट्रैकिंग की जा सके.

इसे भी पढ़ें- बीजेपी सांसद रविंद्र राय ने जेवीएम सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी पर ठोका 10 करोड़ का मानहानि का दावा

न्यूजविंग ने प्रकाशित की थी खबर

न्यूजविंग ने यह खबर प्रकाशित की थी कि सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के बाद रांची के निजी स्कूल प्रबंधन से वाहनों की एंट्री पर उचित निर्णय लेने को कहा गया था. यहां यह बताते चलें कि लॉरेटो कान्वेंट स्कूल में एक दर्जन से अधिक ऑटो से बच्चियां आती हैं. ऑटो में 10-12 बच्चियों को बैठाया जाता है. इसी प्रकार वैन से कई बच्चियों को भी स्कूल परिसर तक लाया जाता है. स्कूल प्रबंधन की ओर से लंबी दूरी के लिए बसों की आवाजाही पिछले एक वर्ष से शुरू की गयी है. पर ऑटो से वही बच्चियां आती हैं, जिनके घर स्कूल से एक से तीन किलोमीटर तक की दूरी पर हैं.

इसे भी पढ़ें- रांची स्मार्ट सिटी के लिए 500 करोड़ का इंटीग्रेटेड बजट निर्धारित

रांची में हैं 55 से अधिक आईसीएसई संबद्ध स्कूल

राजधानी रांची में 55 से अधिक आईसीएसई बोर्ड से संबद्ध स्कूल हैं. इसमें संत जेवियर्स स्कूल डोरंडा, लॉरेटो कान्वेंट, संत माइकल स्कूल, संत फ्रांसिस हरमू, बिशप वेस्टकॉट ब्वायज स्कूल नामकुम, बिशप वेस्टकॉट गर्ल्स स्कूल डोरंडा और नामकुम, बिशप हार्टमैन, सेक्रेड हर्ट स्कूल, बिशप स्कूल बहु बाजार, संत अंथोनी स्कूल डोरंडा समेत अन्य स्कूल हैं. सीबीएसई से संबद्ध 80 से अधिक स्कूल राजधानी में संचालित हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.


हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Open

Close
%d bloggers like this: