न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

तालिबान के साथ लंबे समय से चल रही अफगानिस्तान शांति वार्ता का हुआ अंत: ट्रंप

566

Washington: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि तालिबान के साथ लंबे समय से चल रही अफगानिस्तान शांति वार्ता का अंत हो गया है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अमेरिका ने पिछले चार दिनों में तालिबान पर जितने कठोर प्रहार किये हैं उतने पिछले 10 सालों में नहीं किये गये.

इसे भी पढ़ें- #JPSC की कार्यशैली पर लगातार प्रतिक्रिया दे रहे हैं छात्र, पढ़ें-क्या कहा छात्रों ने….…

क्या कहा ट्रंप ने

ट्रंप ने व्हाइट हाउस में सोमवार को संवाददाताओं से कहा कि उसका (तालिबान के साथ वार्ता) अंत हो चुका है. जहां तक मेरा सवाल है, वह समाप्त हो चुकी है.

ट्रंप ने शनिवार को यह कह कर दुनिया को सकते में डाल दिया था कि उन्होंने तालिबान और अफगानिस्तान के नेताओं के साथ ‘कैंप डेविड’ में होने वाली गोपनीय बैठक रद्द कर दी है.

अमेरिका ने यह कदम काबुल में पिछले सप्ताह हुए हमले की जिम्मेदारी तालिबान द्वारा लेने के बाद उठाया है. इस हमले में अमेरिका का एक सैनिक भी मारा गया था.

Related Posts

Texas में #HowdyModi कार्यक्रम में पीएम मोदी के साथ डोनाल्ड ट्रंप भी शामिल हो सकते हैं

हाउडी मोदी (Howdy Modi)नाम से आयोजित इस कार्यक्रम में 50 हजार लोग आयेंगे, जो ट्रंप के लिए संभावित वोटर भी हैं.  

इसे भी पढ़ें-अर्थव्यवस्था मंदी की गहरी खाई में गिरती ही जा रही, कब खोलेगी सरकार अपनी आंखें: प्रियंका

वर्ता रद्द करने पर क्या कहा ट्रंप ने

वार्ता रद्द करने के फैसले के बारे में पूछे जाने पर ट्रंप ने कहा कि तालिबान ने सोचा कि बातचीत में खुद को बेहतर स्थिति पर रखने के लिए उन्हें लोगों को मारना होगा…वह मेरे साथ ऐसा नहीं कर सकते.

ट्रंप ने कहा कि जहां तक मेरी बात है तो मेरे लिए वे समाप्त हो चुके हैं. हमने पिछले चार दिनों में तालिबान पर जितने कठोर प्रहार किये हैं उतने पिछले 10 वर्षों में नहीं किये.

उन्होंने कहा कि तालिबान ने गलती कर दी. हम निकलना (अफगानिस्तान से) चाहते थे, लेकिन हम उचित समय पर ही जाएंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्या आपको लगता है कि हम स्वतंत्र और निष्पक्ष पत्रकारिता कर रहे हैं. अगर हां, तो इसे बचाने के लिए हमें आर्थिक मदद करें. आप हर दिन 10 रूपये से लेकर अधिकतम मासिक 5000 रूपये तक की मदद कर सकते है.
मदद करने के लिए यहां क्लिक करें. –
%d bloggers like this: