LohardagaTODAY'S NW TOP NEWS

लोहरदगाः एक ही परिवार के तीन लोगों को जलाकर मारने के मामले में 22 लोगों को आजीवन कारावास 

Lohardaga: लोहरदगा कोर्ट ने तीन साल पुराने के मामले में फैसला सुनाते हुए 22 लोगों को आजीवन कारावास की सजा सुनायी है.

जिले के कैरो थाना क्षेत्र के चिपो ठेकाटोली गांव में 17 अप्रैल 2016 को एक ही परिवार के तीन लोगों को घर में बंदकर जिंदा जला देने के केस में अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश प्रथम गोपाल पांडे की अदालत ने गुरुवार को फैसला सुनाया.

advt

इसे भी पढ़ेंःझारखंड : छह महीनों में 42 नवजात बरामद, 27 की हो गयी मौत

कोर्ट ने 22 आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनायी. बता दें इससे पहले 02 अगस्त को कोर्ट ने इस चर्चित मामले में 22 लोगों को दोषी करार दिया था. और सजा के ऐलान के लिए आठ अगस्त की तारीख तय की गयी थी.

अंधविश्वास में हुई थी हत्या

गौरतलब है कि तीनों हत्याएं अंधविश्वास में की गयी थीं. चिपो ठेकाटोली निवासी गोवर्धन भगत पर ग्रामीणों का आरोप था कि वह ओझा-गुणी करता था.

और 17 अप्रैल 2016 की देर रात 500 से ज्यादा ग्रामीणों ने गोवर्धन भगत सहित परिवार के चार सदस्यों को घर में बंदकर आग लगा दी थी. इसमें गोवर्धन उरांव (60), मादो भगताईन (55 ) व सुखमनिया भगताईन (30) की मौत हो गई थी.

इसे भी पढ़ेंःबजट जितने कर्ज में डूबी झारखंड की अर्थव्यवस्था, क्या 218 करोड़ का बोझ उठाने को है तैयार!

लगभग 3 साल तक चला ट्रायल 

मृतक परिवार के परिजन राजेश भगत के बयान पर कैरो थाना में मामला दर्ज किया गया था. घटना में 24 नामजद सहित लगभग 500 अज्ञात लोगों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गई थी.

तीन लोगों को जलाकर मार डालने के चर्चित मामले में कोर्ट ने 2 अगस्त को 22 लोगों को दोषी करार दिया था. अदालत ने लगभग 3 साल तक ट्रायल के बाद दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद 22 लोगों को मामले में दोषी पाया.

इन लोगों को हुई उम्रकैद

आजीवन कारावास की सजा सुनाए गए लोगों में बीरू उरांव, सोमनाथ उरांव, पारस साहू,  देशीमुन्ना साहू, राम उरांव, दिवाकर साहू, माइकल खाख, प्रवीण मिंज, जीवन मिंज, रामपूजन साहू, धुरी उरांव,मुनित खाखा, इरकान तिर्की,नोवेल तिर्की, मिराज खाखा, एतवा पाहन, अमन कुजूर,संदीप उरांव, विजय यादव, झरी उर्फ झरिया यादव, मन्ना उरांव, राजू उर्फ राजकुमार उरांव शामिल हैं.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: