Corona_Updates

#LockDown21 : पलायन कर रहे लोगों से लॉकडाउन को खतरा, केंद्र ने कहा- सील करें राज्यों और जिलों की सीमाएं, उनके रहने-खाने का इंतजाम करें

New Delhi : देश भर में लॉकडाउन के बाद देश के विभिन्न राज्यों में फंसे मजदूर और रोज कमानेवाले लोगों के सामने विषम संकट है. अफरातफरी के माहौल में उन्हें जब कोई रास्ता नहीं सूझा तो वे अपने-अपने घर जाने को निकल पड़े.

बसों औऱ रेल सेवा के बंद रहने के कारण वे कहीं जा भी नहीं पा रहे हैं. कुछ लोगों ने हिम्मत दिखात हुए पैदल ही घर की राह पकड़ ली. पिछले कुछ दिनों से उनकी हृदय विदारक तस्वीरें सामने आ रही हैं.

लेकिन लॉकडाउन के मकसद को पूरा होता न देख केंद्र सरकार ने कड़ा फैसला किया है. उसने कहा है कि
लॉकडाउन का पालन करवाना डिस्ट्रिक्ट मैजिस्ट्रेट और एसपी की जिम्मेदारी है.

इसे भी पढ़ें – #MannKiBaat में पीएम मोदी ने #LockDown21 में हो रही परेशानियों के लिए मांगी माफी, कहा- जरूरी था

लॉकडाउन का पालन नहीं करने पर कड़ी कार्रवाई

केंद्र सरकार की तरफ से आदेश दिया गया है कि सभी राज्यों और जिलों की सीमाएं सील कर दी जायें और बाहर से आनेवाले लोगों को सीमाओं पर ही कैंपों में रखा जाये.

केंद्र सरकार ने यह भी कहा है कि काम करने आनेवाले मजदूरों के रहने का इंतजाम किया जाये और उनको समय से भुगतान किया जाये. सरकार ने कहा कि आदेश को न माननेवालों पर कड़ी कार्रवाई होगी.

बॉर्डर पर जमा थे हजारों लोग

दिल्ली की सीमा पर बसों के इंतजार में हजारों लोग जमा थे. ऐसे ही नजारे देश के औऱ भी कई हिस्सों में देखने को मिले थे. उसके बाद केंद्र सरकार ने कहा है कि शहरों से लोगों को हाइवे पर आने से रोका जाये.

शनिवार से दिल्ली के सीमावर्ती इलाकों में भारी भीड़ देखी गयी. वहीं कई लोग पैदल ही सैकड़ों किलोमीटर की दूरी तय करने के लिए निकल पड़े.

मजदूरों के इस पलायन की गूंज सियासी गलियारे में भी सुनाई पड़ी. बिहार सरकार ने पहले ही कह दिया है कि बाहर से आनेवाले लोगों को सीमा पर ही रोका जायेगा और वहीं रुकने की सुविधाएं दी जायेंगी.

इसे भी पढ़ें – #Corona से मुंबई में एक और की गयी जान, न्यूजीलैंड में पहली मौत

जो जहां हैं, वहीं रहें

केंद्र सरकार ने कहा है कि लोग हाइवे पर न निकलें और जहां हैं वहीं रहें. सरकार ने राज्यों को आदेश दिया है कि लोगों के खाने और रहने का प्रबंध किया जाये.

इसका मकसद यह है कि यदि कोई संक्रमित व्यक्ति गांव तक पहुंच जाता है, तो उसका असर पूरे गांव पर पड़ सकताहै. इससे गंभीर स्थिति उत्पन्न हो सकती है.

इसे भी पढ़ें – #LockDown21 : हुसैनाबाद के 400 मजदूर अलग-अलग राज्यों में फंसे, रहने-खाने के प्रबंध के लिए मुख्य सचिव से आग्रह

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: