Sports

Lockdown में बिगड़ रही थी इंटरनेशनल हॉकी प्लेयर संगीता और ब्यूटी की सेहत, प्रैक्टिस पर भी असर, राज्य सरकार और हॉकी सिमडेगा ने की मदद

♦U-18 भारतीय महिला हॉकी टीम की मेंबर हैं संगीता और ब्यूटी

Ranchi : मार्च से राज्य में लॉकडाउन जारी है. कोरोना संकट के कारण 130 दिनों से खिलाड़ी घरों में सिमटे हुए हैं. इसका असर खिलाड़ियों की सेहत पर पड़ रहा है. ट्रेनिंग की भी गुंजाइश कम हो गयी है. ऐसे में गरीब घरों से आने वाले प्लेयर्स के लिए चुनौती बढ़ी है. सिमडेगा जिला प्रशासन ने हॉकी सिमडेगा के साथ मिल कर दो इंटरनेशनल प्लेयर्स की मदद को हाथ बढ़ाये हैं. प्रशासन ने हॉकी खिलाड़ी संगीता कुमारी और ब्यूटी डुंगडुंग के लिए एस्ट्रोटर्फ स्थित हॉकी सेंटर के खाली पड़े हॉस्टल में रहने की परमिशन दी है. हॉकी सिमडेगा लॉकडाउन हटाये जाने तक उनके लिए खान-पान का इंतजाम करेगा.

इसे भी पढ़ें – क्या आपको सच पता है ! लोगों के पास पैसे नहीं है, फिर शेयर बाजार कैसे चढ़ रहा है?

संगीता और ब्यूटी हैं नेशनल हॉकी टीम की मेंबर

संगीता और ब्यूटी इंडियन नेशनल हॉकी टीम (U-18) से जुड़ी हुई हैं. 2016 में हुए एशिया कप में संगीता ने सबसे अधिक गोल किये थे. इंडियन टीम को कांस्य पदक मिला था. ब्यूटी भी इंडियन टीम (जूनियर) की प्रमुख प्लेयर हैं.

मार्च से बंद पड़े हैं स्पोर्ट्स सेंटर

कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे के कारण झारखंड के सभी खेल छात्रावास पिछले साढ़े चार माह से बंद हैं. लॉकडाउन शुरू होते ही सभी खिलाड़ियों को अपने घर भेज दिया गया था. हॉस्टलों के बंद होने से खिलाड़ियों को नुकसान ही हुआ है. घर में पौष्टिक आहार और अन्य सुविधाओं की कमी के कारण फिजिकल स्ट्रेंथ बनाये रखना मुश्किल हो गया है. घर के आसपास की जगहों पर खेती का काम शुरू होने के इन्हें अपनी फिटनेस और प्रैक्टिस के लिए भी गांवों में जगह नहीं मिल पा रही थी.

इसे भी पढ़ें – राहुल का आरोप-मोदी का एक और झूठ उजागर हुआ, रक्षा मंत्रालय ने माना- चीन ने किया घुसपैठ, फिर बेवसाइट से हटायी जानकारी

मजदूरी करते हैं खिलाड़ियों के पिता

हॉकी खिलाड़ी संगीता कुमारी और ब्यूटी डुंगडुंग के घर के लोग मेहनत मजदूरी करते हैं. यहां तक कि इन खिलाड़ियों को परिवार के साथ अपने तथा नजदीकी गांवों के खेतों में धान रोपनी के काम में भी लगना पड़ा था. भरपूर खुराक और प्रैक्टिस की कमी से दोनों प्लेयर्स अंडर वेट होती जा रही थीं. दोनों खिलाड़ियों की हालत को देखते हुए जिला प्रशासन ने हॉकी सिमडेगा में रहने की इजाजत दे दी है. हाकी सिमडेगा दोनों प्लेयर्स के खाने पीने का खर्च वहन करेगा.

इसे भी पढ़ें – हड़ताली पारा मेडिकल कर्मियों को बोकारो डीसी का आदेश- 7 अगस्त तक दें योगदान नहीं तो सेवा बर्खास्त

5 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button