GiridihJharkhand

लॉकडाउन का उल्लंघन:  गिरिडीह जिले में 17 केस दर्ज, 13 गिरफ्तार, छठ पूजा फीकेपन के साथ शुरू

Giridih : लॉकडाउन का उल्लंघन करने के आरोप में अब तक पूरे जिलें में धारा 188 के तहत 13 लोगो को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है. शनिवार को ही गिरिडीह के बिरनी पुलिस ने चार लोगो को गिरफ्तार किया. पुलिस के अनुसार बिरनी के मेन रोड स्थित बाजार में दर्जन भर लोग किक्रेट खेल रहे थे.

गश्ती के दौरान पहुंची बिरनी पुलिस ने चार लोगों को खदेड़ कर पकड़ा. वहीं आठ अन्य फरार होने में सफल रहे.

लोग घरों से निकलने में कर रहे परहेज

जिले लॉकडाउन व समाजिक दूरी का पालन करना लोगों ने खुद ही शुरु कर दिया. कोरोना से संक्रमितों की संख्या 900 के करीब और 19 मौत का असर दिख भी रहा है. दिन तो दूर शाम ढलने के बाद भी लोग घरों से निकलने में परहेज ही कर रहे हैं. तमाम प्रयासों के कारण ही अब तक इस जानलेवा बीमारी के कोई संदिग्ध व कन्फर्म मरीज के जिले में होने की कोई सूचना नहीं है.

advt

इधर डीसी राहुल सिन्हा के निर्देश पर शनिवार को जिले के 13 प्रखंडो के कलस्टर और पंचायत भवनों को क्वोरोंटाईन सेंटर के रुप में तब्दील करने का निर्देश दिया है. जारी आदेश में डीसी ने तमाम बीडिओ और सीओ को निर्देश देते हुए कहा कि बाहर से आने वाले कामगारों को सबसे पहले क्वोरोंटाईन किया जाएगा.

पंचायत भवन और कलस्टर में बाहरी राज्यों से आने वाले कामगारों के ठहराने की सारी व्यवस्था करने का निर्देश दिया गया है.

दाल-भात केन्द्र की शुरुआत की गयी

इधर लॉकडाउन की वजह से जिन लोगों को राशन मिलने की परेशानी हो गयी थी, और भोजन नहीं मिल पा रहा था, वैसे लोगों के लिए शनिवार से डीसी के निर्देश पर छह स्थानों पर स्वयं सहायता समूह द्वारा दाल-भात केन्द्र की शुरुआत की गयी.

पहले ही दिन सभी छह स्थानों पर संचालित दाल-भात केन्द्र का जायजा खुद डीसी राहुल सिन्हा और एसपी सुरेन्द्र झा लेते दिखे. बीमारी की भयावहता को देखते हुए सामाजिक दूरी का नियम का पालन करने के लिए वितरण स्थल पर हर तीन मीटर की दूरी पर घेरे तो बनाएं गए थे. लेकिन सही तरीके से पालन होता नहीं दिखा. केन्द्र में स्वयं सहायता समूह के कर्मी घेरे में खड़े लोगों के नजदीक पहुंच कर भोजन वितरण कर रहे थे.

adv

छठ पूजा भी आयी कोरोना की चपेट में 

कोरोना महामारी के संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन के दौरान त्योहारों का उत्साह फीका दिख रहा है. लॉकडाउन के चौथे दिन शनिवार से सूर्योपासना और लोकआस्था का महापर्व चैती छठ पूजा की शुरुआत तो हुई. लेकिन भीषण गर्मी के बीच होने वाले इस महापर्व की रौनक पूरी तरह से फीकी हो गयी है.

कमोवेश, इस फीके माहौल में ही शनिवार को व्रतियों ने पहले दिन नहाय-खाय का प्रसाद तैयार किया. जिन व्रतियों के घर अटूट आस्था के त्योहार की शुरुआत हुई. उन घरों के सदस्यों ने खुद पूजन स्थल की सफाई की.

इसके बाद व्रतियों ने वहां नहाय-खाय का प्रसाद कद्दु-भात तैयार करते दिखें. साथ ही हर व्रती खुद से समाजिक दूरी के नियम का पालन करते नजर आय़े. दोपहर बाद जब प्रसाद ग्रहण का वक्त हुआ, तो घर के सदस्यों के अलावे चंद श्रद्धालु ही नहाय-खाय का प्रसाद लेने पहुंचे थे.

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button