DhanbadJharkhand

#Lockdown : नहीं था मुखिया या विधायक का पत्र, गर्भवती का पीएमसीएच में नहीं हो पाया इलाज, महिला ने तोड़ा दम

Dhanbad :  निरसा प्रखंड अंतर्गत माड़मा पंचायत के माड़मा भुइयां बस्ती में रहनेवाली लालो देवी की मौत मंगलवार को उनके घर पर ही हो गयी. लालो देवी छह महीने की गर्भवती थी जिसकी अचानक तबीयत खराब हो गयी. जिसके बाद चिकित्सा के अभाव में घर पर ही उसने दम तोड़ दिया.

परिजनों ने इसका सीधा आरोप पंचायत के मुखिया पर लगाया है. उन्होंने बताया कि मुखिया के कारण समय रहते किसी भी तरह की कोई सहायता या सुविधा नहीं प्रदान की गयी.

इसे भी पढ़ें – #FightAgainstCorona : राहत भरी खबर, कोई नया केस नहीं, 5 पॉजिटिव मरीजों के सैंपल निगेटिव पाये गये

मुखिया और विधायक ने नहीं उठाया फोन

महिला की मां ने बताया कि बीती देर रात से ही लालो की तबीयत अचानक खराब होने लगी. इसके बाद कई बार मुखिया संजय महतो तथा क्षेत्र के विधायक को फोन कर सहायता मांगने का प्रयास किया गया पर किसी ने भी फोन नहीं उठाया.

लालो देवी रात भर तड़पती रही. सुबह 4:00 बजे किसी तरह एंबुलेंस से उसे धनबाद के पीएमसीएच ले जाया गया. पीएमसीएच में मृतका को भर्ती लेने के पूर्व मुखिया या विधायक का पत्र  दिखाने की बात कही गयी. जो उसके पास नहीं था.

इसे भी पढ़ें – आदेश के बाद भी औद्योगिक इकाइयों को खोलने में हो रही परेशानी, उपायुक्तों की गाइडलाइन अलग-अलग

ग्रामीणों ने स्वास्थ्य व्यवस्था पर उठाया सवाल

किसी भी तरह का कोई पत्र नहीं होने के कारण पीएमसीएच में उक्त महिला को भर्ती नहीं लिया गया. जिसके बाद थक हार कर वहां से किसी तरह वापस माड़मा स्थित अपने आवास पहुंची और दर्द से कराती महिला ने दम तोड़ दिया. जिससे पूरे स्वास्थ सिस्टम पर सवाल खड़ा होता है कि अगर मुखिया या विधायक का पत्र नहीं रहेगा तो क्या पीएमसीएच में मरीज को एडमिट नहीं किया जायेगा. घटना के बाद परिजन तथा ग्रामीणों में काफी रोष है.  इसका सीधा  आरोप मुखिया पर लगाया गया है.

इसे भी पढ़ें – #Impact : न्यूजविंग की खबर पर देवघर प्रशासन ने लिया संज्ञान, सांसद निशिकांत पर हो सकती है कार्रवाई

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button