JharkhandRanchi

#Lockdown: पांडिचेरी में फंसे झारखंड के 30 छात्र, सरकार से घर वापसी की लगा रहे गुहार

  • क्या कहते हैं पांडिचेरी में फंसे छात्र, देखें वीडियो
  • क्राइस्ट इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में पढ़ते हैं सभी छात्र

Ranchi: पांडिचेरी के क्राइस्ट इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, रामनाथपुरम के छात्रावास में झारखंड के 30 छात्र फंसे हुए हैं. इस शिक्षण संस्थान में अब सिर्फ झारखंड के ही छात्र रह गये हैं.

अन्य छात्र जो बिहार, बंगाल, केरल से थे वे सभी लॉकडाउन के दौरान अपने घर चले गये. लेकिन झारखंड के छात्रों की घर वापसी अबतक संभव नहीं हो सकी है. सभी छात्र परेशान हैं.

छात्रों के समक्ष भोजन की समस्या खड़ी हो गयी है. अब छात्र खुद ही भोजन बना रहे हैं. झारखंड के लोहरदगा, हजारीबाग, गुमला, गढ़वा एवं अन्य जिले के 30 छात्र पांडिचेरी में हैं जिसमें 5 लड़कियां हैं.

कॉलेज प्रबंधन ने भी छात्रों को घर लौटने के लिए कह दिया है. छात्रों ने झारखंड सरकार से मदद की गुहार लगायी है.

इसे भी पढ़ें – मृतक के घर सांत्वना देने पहुंचीं झरिया विधायक पूर्णिमा नीरज सिंह ने उड़ायी सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां

लिंक पर निबंधन भी कराया, पर ठोस सूचना नहीं

क्राइस्ट इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में फंसे छात्र झारखंड सरकार की ओर से राज्य वापसी के लिय जारी लिंक पर निबंधन भी करा चुके है. लेकिन वहां से कोई ठोस सूचना छात्रों को नही मिली.

सभी छात्र निराश और परेशान हैं. कॉलेज प्रबंधन के द्वारा छात्रों को कहा जा रहा है कि आप घर लौट जायें. जब संस्थान खुलेगा तब आप लोगों को सूचना दी जायेगी.

मंडार विधायक बंधु तिर्की ने भी इस संबंध में मुख्य सचिव सुखदेव सिंह को पत्र लिखा जिसमें अलग-अलग स्थानों में झारखंड के 200 छात्र फंसे होने का बात कही.

बंधु तिर्की ने अपने पत्र में छात्रों की घर वापसी कराने का अनुरोध किया.

इसे भी पढ़ें – #Goa नेशनल गेम्स : झारखंड एथलेटिक्स ने जारी किया एसओपी, जून से खिलाड़ियों के लिए शुरू होगा ट्रेनिंग प्रोग्राम

कोटा से छात्रों को लाये जाने पर राज्य सरकार की हुई थी सराहना

झारखंड सरकार के द्वारा कोटा से छात्रों को सुरक्षित घर लाये जाने पर झारखंड सरकार की काफी सराहना हुई. लेकिन अभी भी ऐसे बहुत सारे छात्र अलग-अलग संस्थानों में फंसे हुए हैं जो अपने घर लौटना चहते हैं.

न्यूजविंग से बतचीत में क्या कह रहे छात्र, देखें वीडियो.


इसे भी पढ़ें – #JPSC आंदोलनकारी उम्मीदवारों ने राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को लिखा पत्र, 6ठी सिविल सेवा परीक्षा की त्रुटियों से कराया अवगत

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close