न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

स्थानीय विधायक पर एचईसी विस्थापितों से पैसे मांगने का आरोप

विस्थापितों का कैंप लगाकर रसीद काटी जाय और मकान-जमीन पर मिले मालिकाना हक

300

Ranchi: नया विधानसभा परिसर के विस्थापितों ने रांची के प्रेस क्लब मे संवाददाता सम्मेलन किया. विस्थापित परिवार समिति हटिया ने पीसी कर जानकारी दी कि उनलोगों ने विस्थापन आयोग से मुलाकात की. मुलाकात के दौरान विस्थापित परिवार समिति की ओर से कई मांगे रखी गई.

इसे भी पढ़ें-झारखंड पुलिस शुरू कर रही है नया ऐप, अब लोग ट्विटर के माध्यम से भी दर्ज करवा पायेंगे शिकायत

संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए समिति की ओर से कहा गया कि राष्ट्रीय जनजाति आयोग ने 10 और 11 सितंबर 2016 को एचईसी विस्थापित गांवों का दौरा किया था. 12 सितंबर को एचईसी के सीएमडी के साथ वार्ता हुई थी.

इसे भी पढ़ें-लाखों खर्च कर बनाये गए स्मार्ट क्लास धीरे-धीरे बन रहे कबाड़

विस्थापितों को मिले जमीन का मालिकाना हक

हटिया विस्थापित समिति ने विस्थापितों के लिए पुनर्वास की मांग की. उन्होने कहा कि सरकार सिर्फ मकान बनाकर नहीं दे, बल्कि उस जमीन और मकान का मालिकाना हक भी मिले. सीएमडी के साथ वार्ता के बाद राष्ट्रीय जनजाति आयोग ने कहा था कि विस्थापितों परिवार के लिए कैंप लगाकर लगान रसीद कटा जाय एवं घर, जमीन के मालिकाना हक दी जाय. जिसकी प्रक्रिया 7 साल के बाद सुरू की गई है और इसमें स्थानीय विधायक के द्वारा पैसे की मांग की जा रही है. जिला प्रशासन की ओर से विस्थापितों को जमीन का रसीद दिया जा रहा है. जबकि रसीद काटने के पूर्व स्थानीय विधायक के द्वारा हस्ताक्षर के बाद आवेदन को मंजूरी दे दी जा रही है, जो गलत है. इससे विस्थापितो का अधिकर का हनन हो रहा है.

इसे भी पढ़ें-736 दुकानदारों पर है आरआरडीए की करोड़ों की राशि बकाया, नहीं देने पर दुकानें होंगी सील

2013 के भूमि अधिग्रहण कानून को लागू करने की मांग

एचईसी हटिया विस्थापित परिवार समिति ने सरकार से मांग की है कि 2013 के भूमि अधिग्रहण को मूल रुप से लागू किया जाय. मुख्यमंत्री के द्वारा विस्थापितो के लिए आयोग की घोषणा को कैबिनेट में जल्द से जल्द पास किए जाय. कूटे में बन रहे भवन में विस्थापन आयोग का कार्यालय खोलकर विस्थापितो को सुपुर्द की जाय. समिति की ओर से संवाददाता सम्मेलन को वासवी किड़ो, राहुल कुमार, बाल्मीकि मुंडा आदि ने संबोधित किया.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: