Dhanbad

धनबाद नगर निगम के वार्ड नंबर 26 में 7 लाख से बनायी नाली से लोगों का जीना मुहाल

Dhanbad: हीरापुर, प्रोफेसर कॉलोनी में नाली के गलत कंस्ट्रक्शन की वजह से मोहल्ले के लोग सड़ांध में रहने को मजबूर हैं. क्योंकि आशीर्वाद अपार्टमेंट के पास बनी नाली में गंदा पानी निकलने की कोई जगह ही नहीं है. क्योंकि यह अपवर्ड्स की जगह डाउनवर्ड्स में बना हुआ है. जिससे नाली का पानी बीच में ही ठहर जाता है. नाली का फायदा सिर्फ आशीर्वाद अपार्टमेंट के लोगों को ही होता है. जबकि इस अपार्टमेंट के बगल के ही तीन आवासों के मुख्य दरवाजे से होकर यह नाली गुजरती है. लेकिन उनके घरों का पानी इस नाली में जाता तक नहीं है. यह नाली लगभग एक साल पहले बनी थी. इसका विरोध उस वक्‍त कई लोगों ने किया था. विरोध के बाद इस नाली को मेन रोड की ओर बनाया गया, जहां से नाली के पानी को निकलने की जगह नहीं है. स्थानीय लोग इसकी गंदगी और उससे आनेवाली दुर्गंध झेलने को विवश हैं. गंदे पानी में मलेरिया और डेंगू मच्छरों के पनपने की आशंका बनी हुई है.

क्या कहते हैं स्थानीय लोग

प्रोफेसर कॉलोनी के ही रहनेवाले अशोक झा ने कहा कि आशीर्वाद अपार्टमेंट के सामने बनी नाली का कंस्ट्रक्शन ही ऐसा है कि वाटर स्ट्गनेंट रहता है. क्योंकि यह नाली नीचे की बजाय ऊपर की ओर बना हुआ है, जिससे पानी नहीं निकल पाता है. नाली का गंदा पानी उसी में जमा हुआ है. जिससे बदबू आती है. नाली का गंदा पानी जमने से मच्छर भी पनप रहे हैं. जिससे मलेरिया और डेंगू जैसे बीमारियों का खतरा बना हुआ है. उन्होंने बताया कि जब यह नाली बन रही थी तो लोगों ने इसका विरोध भी किया था. इसके बावजूद वार्ड पार्षद निर्मल मुखर्जी ने उस अपार्टमेंट में रहने वाले वोट बैंक के लिए साथ दिया और उस नाली को बनवाया.

ram janam hospital
Catalyst IAS

वहीं इन्द्रदेव पांडेय ने कहा कि यह नाली नहीं बकवास बनी हुई है. क्योंकि नाली का मुख हमेशा डाउनवर्ड्स रहता है जबकि यह अपवर्ड्स बना हुआ है. इसके कारण नाली का पानी हमेशा जमा रहता है. ऊपर की ओर होने की वजह से नाली का पानी धीरे-धीरे बहता है. नाली बनाते समय हमने कहा भी था कि हमारे घर के पास से नीचे की ओर जानेवाली नाली में इस नाली को मिला देने से पानी अच्छी तरह निकल जायेगा. लेकिन ऐसा नहीं किया गया.

The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

क्या कहा वार्ड पार्षद ने

वार्ड नंबर-26 के पार्षद निर्मल मुखर्जी से जब इस विषय पर न्यूजविंग ने बात करनी चाही तो उन्होंने कहा कि मोहल्ले के लोग लिखकर देंगे तो हमारा इंजीनियर जाकर देखेगा और इस विषय पर मैं मीडिया को कुछ जवाब नहीं दूंगा, क्योंकि मीडिया इस समस्या को हल नहीं कर देगी.

इसे भी पढ़ें: गढ़वा: ठग गिरोह के मास्टरमाइंड सहित 5 गिरफ्तार, फर्जी लेटर पैड, मुहर, लैपटॉप और मोबाइल बरामद

Related Articles

Back to top button