न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राज्य के मतदान केंद्रों पर होगी लाइव कवरेज

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने मार्च के पहले सप्ताह तक ट्रांसफर-पोस्टिंग पूरा करने का दिया निर्देश

908

Ranchi: राज्य सरकार आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए मतदान केंद्रों पर लाइव कवरेज करायेगी. राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एल ख्यांगते ने इस संबंध में 28 फरवरी तक योग्य कंपनियों से वीडियोग्राफी के संबंध में आवेदन मंगाया है. उन्होंने कहा है कि मतदान केंद्रों में वेब कास्टिंग भी करायी जा रही है. अब निर्वाचन आयोग की तरफ से शहरी मतदान केंद्रों और संवेदनशील बूथों पर मतदान प्रक्रिया की वीडियो रिकॉर्डिंग कराने का निर्देश दिया गया है.

इसी आलोक में कंपनियों से वीडियोग्राफी को लेकर आवेदन मंगाया गया है. जानकारी के अनुसार, राज्य के 14 लोकसभा सीटों को लेकर 2014 की तर्ज पर ही तीन चरणों में चुनाव होने की संभावना है. इसको लेकर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय की तरफ से तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है.

मुख्य सचिव ने किया नये भवन का उद्घाटन

hosp3

राज्य के मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय के नये भवन का उद्घाटन किया. उन्होंने निष्पक्ष और शांतिपूर्ण ढंग से मतदान सुनिश्चित करने का आह्वान अधिकारियों से किया. नये भवन में कंट्रोल रूम, सहायक मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी का कार्यालय समेत कॉन्फ्रेंस हॉल और अन्य सुविधाएं विकसित की गयी हैं. यह भवन एक वर्ष पहले ही बनकर तैयार हो गया था.

मार्च के पहले सप्ताह तक पूरी करें ट्रांसफर-पोस्टिंग की औपचारिकताएं

राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एल ख्यांग्ते ने मार्च के पहले सप्ताह में ट्रांसफर-पोस्टिंग की औपचारिकताएं पूरी करने का आग्रह सरकार से किया है. उन्होंने कहा है कि 17 जनवरी 2019 को भारत के निर्वाचन आयोग की तरफ से सभी राज्यों को लोकसभा चुनाव 2019 के बाबत नियमावली और आदेश भेजे गये थे. इसमें कहा गया था कि वैसे अधिकारी, जो जिला स्तर पर अथवा प्रमंडल स्तर पर तीन वर्ष से अधिक समय से जमें हैं, उनका तबादला किया जाये. इसको लेकर सभी जिलों के उपायुक्त, कार्मिक, प्रशासनिक एवं राजभाषा विभाग के सचिव समेत अन्य विभागों के विभागाध्यक्षों को पत्र लिखकर सीइओ कार्यालय को रिपोर्ट भेजने का निर्देश दिया गया है.

इसे भी पढ़ेंः हत्या की रात क्या हुआ था रांची की निर्भया, विदिशा और अफसाना के साथ, नहीं बता पा रही है सीबीआई, सीआईडी और पुलिस

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: