Education & CareerGiridihJharkhand

साक्षरता सचिव पहुंची थीं पुस्तकों की अवैध बिक्री की जांच करने, मिला गड़बड़ियों का अंबार

Giridih: पुस्तकों को अवैध तरीके से बेचने के मामले की जांच करने राज्य की स्कूल सह साक्षरता सचिव गरिमा सिंह गुरुवार को गिरिडीह के गांडेय पहुंची. वह जिले के अधिकारियों के साथ पहले गांडेय के फूलची मध्य विद्यालय पहुंचीं. सचिव गरिमा सिंह के साथ प्रशिक्षु आइएएस सैयद रियाद और जिला शिक्षा अधीक्षक अरविंद कुमार भी मौजूद थे.

सचिव पहुंची तो किताब बेंचने के मामले की जांच करने, लेकिन जब स्कूल के रजिस्ट्ररों को खंगालना शुरू किया तो फिर एक के बाद एक कई गड़बड़ी निकल कर सामने आयी. सचिव गरिमा सिंह ने इस दौरान गांडेय के झबरदाहा मध्य विद्यालय के साथ मध्य विद्यालय मरखोमुंडी स्कूल का भी जांच की. मध्याह भोजन की गड़बड़ी कमोवेश, तीनों स्कूलों में पकड़ी गयी.

बतातें चले कि मध्य विद्यालय फूलची के स्कूल प्रबंधन समिति के अध्यक्ष बबलू वर्मा को बीते 19 जनवरी को जिला शिक्षा अधीक्षक अरविंद कुमार ने एक साथ तीन पुराने सत्र के पाठ्यक्रम के किताबों को बेचते हुए रंगेहाथ स्कूल के बाहर पकड़ा था.

गुप्त सूचना पर जिस वक्त डीएसई अरविंद कुमार स्कूल पहुंचे थे, उसी वक्त करीब एक लाख रुपये की कीमत के पुस्तकों को प्रबंधन समिति के अध्यक्ष बबलू वर्मा गाड़ी में लोड कर बेचने ले जा रहे थे. डीएसई को देखते हुए ही आरोपी अध्यक्ष बबलू वर्मा की हालत तो खराब हुई लेकिन डीएसई द्वारा पूछताछ के दौरान अपने बचाव में अध्यक्ष वर्मा कई झूठ बोलकर बचने का प्रयास भी किये.

इसे भी पढ़ें : Good News : रांची विवि के अनुबंध पर नियुक्त असिस्टेंट प्रोफेसरों को जल्द मिलेगी सैलेरी

लेकिन डीएसई द्वारा सख्ती से पूछताछ के बाद बात निकल कर सामने आयी कि अध्यक्ष वर्मा तीन सत्र 2017-18 और 19 के पुस्तकों को बेंचने के लिए गाड़ी से ले जा रहे हैं. इसके बाद डीएसई के निर्देश पर ताराटांड थाना में प्रबंधन समिति के अध्यक्ष बबलू वर्मा के खिलाफ केस भी दर्ज कराया गया था.

हालांकि डीएसई ने उस वक्त यह भी कहा था कि जिन पुस्तकों को अध्यक्ष बेचने ले जा रहे हैं, उन पुस्तकों की री-वैल्यू फिलहाल कुछ भी नहीं है क्योंकि तीनों पुराने सत्र की पुस्तकें हैं जो तीनों सत्र में पढ़ाई कर चुके स्कूल के छात्रों से वापस लिया गया था और नए सत्र के छात्रों के बीच वितरण किया जाना था.

इधर गुरुवार को जांच करने पहुंची स्कूल सह साक्षरता सचिव गरिमा सिंह ने अधिकारियों के साथ जांच के दौरान कई गड़बड़ियों को पकड़ा, जिसमें स्कूल में नामांकित और छात्रों की उपस्थिति के अनुसार पुस्तकें तो नहीं बंट रही थी लेकिन रजिस्टर में दर्ज जरूर किया जा रहा था.

यही नहीं, सरकार द्वारा बच्चों के स्कूल में ठहराव के लिए मध्याह भोजन में उपस्थिति से अधिक के राशन का उठाव हो रहा था. इधर पत्रकारों से बातचीत के दौरान सचिव गरिमा सिंह ने कहा कि तीनों स्कूलों में गड़बड़ी पायी गयी है. अब पूरी रिपोर्ट तैयार कर कार्रवाई की जायेगी.

इसे भी पढ़ें : संसद सत्र रहेगा हंगामेदार, विपक्ष की कृषि कानूनों समेत कई मुद्दों पर सरकार को घेरने की तैयारी

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: