JharkhandMain SliderNEWSRanchiTOP SLIDER

सुनिए वायरल ऑडियो, खुद को इरफान अंसारी बताने वाला यह शख्स एसडीएम का नाम लेकर दे रहा कैसी गाली !

Ranchi: झारखंड में इन दिनों ऐसे कई वीडियो-ऑडियो वायरल हो रहे हैं, जिनके जरिए अफसरों-नेताओं का चाल-चरित्र-चेहरा सामने आ रहा है. कुछ ऑडियो-वीडियो क्लिप की तो बकायदा जांच तक चल रही है. साहेबगंज के डीएसपी पी. के. मिश्रा से लेकर कांग्रेस के विधायक बंधु तिर्की तक और लातेहार के डीसी अबु इमरान से लेकर जामताड़ा के एमएलए इरफान अंसारी तक के वायरल ऑडियो-वीडियो चर्चा में हैं.

इसे भी पढ़ेंः Jharkhand News: सरकारी कर्मियों के प्रमोशन की अड़चनों को दूर करने के लिए एचआरएमएस तकनीक का उपयोग

अब जो ऑडियो वायरल हो रहा है, वह कथित रूप से जामताड़ा के एमएलए इरफान अंसारी का बताया जा रहा है. इसमें खुद को इरफान अंसारी बताने वाला शख्स गुमला के एसडीएम के लिए भद्दी गाली का इस्तेमाल करते हुए सुना जा रहा है. ऑडियो में जिस विषय पर चर्चा हो रही है, उसमें एक जगह क्रिसमस का जिक्र आता है. इससे यह प्रतीत होता है कि यह ऑडियो कम से कम आठ-दस महीने पुराना हो सकता है, लेकिन यह अब जाकर वायरल हुआ है.

advt

सुनें, क्या है ऑडियो में :

ऑडियो में एक शख्स खुद को जामताड़ा का एमएलए इरफान अंसारी बताते हुए गुमला के एसडीएम को कॉल करता है. फोन स्पीकर मोड में है और वह एक साथ दो लोगों से बात कर रहे हैं. जिन दो लोगों से उनकी बात हो रही है, उनमें एक महिला है, जो गुमला जिला महिला कांग्रेस की अध्यक्ष अमृता भगत बतायी जा रही हैं. दूसरे व्यक्ति गुमला के एसडीएम बताये जा रहे हैं. फोन पर खुद को अमृता भगत बतानेवाली महिला इरफान अंसारी से कहती हैं कि गुमला के एसडीओ ने एक मुसलमान व्यक्ति के यहां से पटाखे जब्त कर लिये हैं.

इसे भी पढ़ेंः ZEE एंटरटेनमेंट का होगा SONY पिक्चर्स में विलय, पुनीत गोयनका बने रहेंगे मैनेजिंग डायरेक्टर

ये पटाखे क्रिसमस के लिए रखे गये थे. वह कहती हैं कि गुमला के एसडीओ पटाखे जब्त कर बेवजह परेशान कर रहे हैं. इसपर खुद को इरफान अंसारी बताने वाला शख्स गुमला के एसडीओ को कॉल लगाता है और उनसे कहता है कि आपने मेरे रिश्तेदार का पटाखा क्यों जब्त कर लिया है? एसडीओ लाइसेंस न होने की बात कहते हैं तो इरफान अंसारी उनसे कहते हैं कि पटाखा के लिए लाइसेंस क्या होता है? आप ससम्मान पटाखा वापस कर दीजिए. वह एसडीएम को फटकार लगाते हैं. उन्हें कहते हैं कि यह भाजपा की सरकार नहीं है कि अल्पसंख्यकों को कोई परेशान करे. एसडीएम से बात खत्म होने के बाद दूसरे फोन पर उनकी अमृता भगत से बात जारी रहती है. वो कहते हैं कि मैंने एसडीएम को डांट दिया है. वह……..का बच्चा है !

इसे भी पढ़ेंः National Corona Update: सक्रिय मरीजों की संख्या छह माह में सबसे कम, नये संक्रमित भी 30 हजार से नीचे

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: