JharkhandRanchiTop Story

बादल गरजते ही आधी रात से प्रदेश में गुल हुई बिजली, 303 मेगावाट की कमी

Ranchi : मौसम के अंगड़ाई लेते ही प्रदेश की बिजली व्यवस्था चरमरा जाती है. रविवार की आधी रात के बाद हुए आंधी पानी के कारण पूरे प्रदेश में बिजली आपूर्ति बाधित है.

राजधानी सहित अन्य जिलों में पावर सप्लाई पूरी तरह से चरमराई हुई है. सिस्टम दुरुस्त नहीं रहने की वजह से बिजली वितरण निगम ने सोमवार दोपहर तक 303 मेगावाट बिजली सरेंडर भी किया.

पावर ट्रेडिंग कंपनी आइइएक्स से 120 मेगावाट बिजली भी नहीं ली गई. बिजली की कमी के कारण हर जिले में चार से पांच घंटे बिजली आपूर्ति बाधित है.

इसे भी पढ़ें – जमीन दलाल की फॉर्चूनर, पूर्व ट्रैफिक SP संजय रंजन, सिमडेगा SP और पूर्व DGP डीके पांडेय का क्या है कनेक्शन !

राज्य का अपना उत्पादन सिर्फ 315 मेगावाट

राज्य के एक मात्र सरकारी उपक्रम के पावर प्लांट टीवीएनएल से 315 मेगावाट बिजली मिली. शेष बिजली निजी और सेंट्रल एलोकेशन से मिली. राज्य में कुल बिजली की मांग 1116 मेगावाट रही. लेकिन फिलहाल 813 मेगावाट ही बिजली उपलब्ध है. इस हिसाब से 303 मेगावाट बिजली की कमी अब भी बरकरार है.

सेंट्रल एलोकेशन भी घटा

सोमवार को सेंट्रल एलोकेशन से भी कम बिजली मिली. हर दिन औसतन 650 मेगावाट तक सेंट्रल एलोकेशन से बिजली मिलती है. सोमवार को सिर्फ 316 मेगावाट ही बिजली मिली. वहीं इंलैंड पावर से भी 50 से 63 मेगावाट की जगह 30 मेगावाट ही बिजली मिल रही है. सिकिदिरी से पहले से ही उत्पादन ठप है.

इसे भी पढ़ें – दर्द ए पारा शिक्षक: भाई के दिए 15 किलो चावल से हो रहा गुजारा, प्रीतम स्कूल के बाद मजदूरी कर चुकाते…

क्या है प्रदेश में पावर की स्थिति

टीवीएनएल- 315 मेगावाट

सिकिदिरी – 00 मेगावाट

सीपीपी –  11 मेगावाट

इंलैंड पावर- 30 मेगावाट

सेंट्रल एलोकेशन – 316 मेगावाट

एपीएनआरएल – 186 मेगावाट

एसइआर- 48 मेगावाट

अन्य स्त्रोत – 32 मेगावाट

कुल उपलब्ध बिजली – 813 मेगावाट

बिजली सरेंडर – 303 मेगावाट

इसे भी पढ़ें – हाल ए सीएम का बिजली विभाग : चार साल में 19606 करोड़ बजट, बिजली खरीद,रिपेयर और मेंटेनेंस में ही खर्च…

Telegram
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close