Khas-KhabarLead NewsTOP SLIDERWorld

खुले में सांस लेने लगी जिंदगी: ब्रिटेन में कोरोना से जुड़ी सभी पाबंदियां खत्म, मास्क पहनना भी अनिवार्य नहीं

London: कोरोना की तीसरी लहर दुनियाभर में कहर बरपा रहा है. इसी बीच ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने बुधवार को कोरोना से जुड़ी सभी प्रतबंधों को खत्म करने का ऐलान किया है. अब मास्क पहनने की भी अनिवार्यता नहीं रहेगा. सरकार ने देश में ओमीक्रोन के मामलों के पीक पर पहुंचने संबंधी तथ्यों के विश्लेषण के बाद यह निर्णय किया है.

सेल्‍फ आइसोलेट की अनिवार्यता भी खत्म

बोरिस जॉनसन ने संसद में बताया था, ‘ब्रिटेन में 60 साल से ऊपर के 90 फीसदी से ज्यादा लोगों को कोरोना की बूस्टर डोज लग चुकी है. वैज्ञानिकों का कहना है कि ब्रिटेन में ओमिक्रॉन की लहर का पीक आ चुका है. इसलिए उनकी सरकार डेटा के तहत अब प्रतिबंधों को हटाने जा रही है.’ इसके साथ ही प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कोरोना संक्रमित होने के बाद सेल्‍फ आइसोलेट होने की अनिवार्यता वाले कानून को आगामी 24 मार्च से हटाने का फैसला लिया है. यह कानून कोरोना मरीज को सेल्‍फ आइसोलेट होने के लिए बाध्‍य करता है.

प्लान-बी के तहत प्रतिबंधों से छूट

कोविड प्लान-बी के तहत लगाए गए इन प्रतिबंधों से छूट के बाद ब्रिटेन में लोगों को घर से काम करने को नहीं कहा जाएगा और बड़ी संख्या में लोगों के जुटने के दौरान कोविड-रोधी टीकाकरण प्रमाणपत्र की अनिवार्यता भी समाप्त हो जाएगी. सरकार की तरफ से लोगों को हर जगह अनिवार्य रूप से मास्क पहनने से छूट रहेगी, हालांकि, मास्क पहनने का निर्णय लोगों के विवेक पर छोड़ा गया है. इसके साथ ही जल्द ही स्कूल कक्षाओं में अनिवार्य रूप से मास्क पहनने की छूट रहेगी.

अर्थव्यवस्था बहाल करने की पहल

हर्ट्समेयर (Hertsmere) के सांसद ओलिवर डाउडेन (Oliver Dowden) ने कहा कि हमने यूरोप में सबसे बड़ा और सबसे तेज़ वैक्सीन रोल आउट किया, लॉकडाउन का विरोध किया, और अब प्लान बी के अंत के साथ स्वतंत्रता बहाल कर सकते हैं. हमारी एक योजना है जो स्वास्थ्य की रक्षा कर रही है, बेरोजगारी को कम रखती है और अर्थव्यवस्था को बहाल करती है.

Advt

Related Articles

Back to top button