न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

घाटे में चल रही IDBI में 13 हजार करोड़ निवेश करेगी LIC

747

New Delhi:  देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी जीवन बीमा निगम के IDBI बैंक में निवेश बढ़ाने के प्रस्ताव को बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण IRDAI ने मंजूरी दे दी है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक आईआरडीएआई ने IDBI बैंक में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाकर 51 प्रतिशत कर सकती है. आईडीबीआई बैंक को खराब वित्तीय स्थिति को सुधारने के लिए सरकार ने एलआईसी से निवेश की पहल की थी, जिसके बाद एलआईसी ने कर्ज में डूबे इस बैंक के लिए 13,000 करोड़ रुपये के निवेश का दरवाजा खोल दिया है.

इसे भी पढ़ेंःLIC-IDBI सौदा : यही हाल रहा तो आप और हम जैसे लोग सालों से की जा रही अपनी बचत से हाथ धो बैठेंगे

IRDAI ने इस डील पर अपनी हामी भर दी है अब कैबिनेट को इसपर अपनी मुहर लगानी है. कैबिनेट की मंजूरी के साथ एलआईसी की बैंक में 51 फीसदी हिस्सेदारी तो हो जाएगी, लेकिन बैंक पर कोई मैनेजमेंट कंट्रोल नहीं होगा. LIC-IDBI डील को मिली मंजूरी एलआईसी और आईडीबीआई डील को हैदराबाद में आईआरडीएआई बोर्ड की बैठक में मंजूरी मिली. बोर्ड ने एलआईसी के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी. LIC का इस वक्त IDBI बैंक में 11 फीसदी हिस्से दारी है, जबकि सरकार की 81 फीसदी हिस्सेदारी है. नियम के अनुसार कोई भी बीमा कंपनी किसी बैंक में 15 प्रतिशत ही निवेश कर सकती है. इसलिए एलआईसी को विशेष अनुमति की जरुरत पड़ी. अब इस डील के बाद 13000 करोड़ के निवेश के साथ एलआईसी के शेयर 51 प्रतिशत हो जायेंगे.
इस डील से जहां एलआईसी के पास बैंकिंग सेक्टर में उतरने का मौका मिल जाएगा, वहीं IDBI को अपने कैपिटल को सुधारना का मौका मिल जाएगा. NPA से जूझ रही बैंक ने रिकैपिटलाइजेशन प्रोग्राम की घोषणा की थी. LIC के इस निवेश मिलने के बाद बैंक में सुधार का रास्ता खुल जाएगा.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: