NEWS

सिविल कोर्ट के रजिस्ट्रार को वकीलों का खत, कहा – कोर्ट में दस्तावेज के लिए मांगे जाते हैं पैसे

Vineet Upadhyay

Ranchi : न्यायालयों को न्याय का मंदिर कहा जाता है. जब कोई व्यक्ति पूरे सिस्टम से जूझते हुए थक जाता है तो वह न्यायालय की शरण लेता है और इसमें उनका साथ देते हैं  न्यायालय के मौजूद अधिवक्ता. लेकिन रांची सिविल कोर्ट के अधिवक्ता इन दिनों अदालत के कर्मचारियों की मनमानी से ही त्रस्त हैं. पिछले दिनों रांची सिविल कोर्ट के कुछ वकीलों ने सिविल कोर्ट के रजिस्ट्रार को पत्र लिखकर अपनी पीड़ा से अवगत कराया.

वकीलों के द्वारा पत्र में जो बातें लिखी गयी हैं, वह काफी गंभीर सवाल खड़े कर रहे हैं. क्योंकि वकीलों ने सिविल कोर्ट के एक ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट के न्यायालय में पदस्थापित ऑफिस क्लर्क पर केस से जुड़े दस्तावेज देने के लिए पैसे मांगने का आरोप लगाया है.

advt

इसे भी पढ़ें – सांसद जया बच्चन ने कहा, कुछ लोगों की वजह से हो रहा फिल्म उद्योग आलोचना का  शिकार

दोषी पाये जाने पर होगी कार्रवाई – रजिस्ट्रार

रांची सिविल कोर्ट के रजिस्ट्रार मनीष कुमार सिंह के मुताबिक, वकीलों के आवेदन को निष्पादित कर दिया गया है. और उनके द्वारा जिस ऑफिस क्लर्क पर आरोप लगाये गये हैं, उन आरोपों की जांच की जा रही है. जांच में दोषी पाये जाने पर संबंधित व्यक्ति पर कार्रवाई की बात भी सिविल कोर्ट के रजिस्ट्रार ने कही है.

वहीं रांची जिला बार एसोसिएशन के पूर्व महासचिव और स्टेट बार काउंसिल के सदस्य सह प्रवक्ता संजय विद्रोही ने कहा है कि, अगर राजधानी की कोर्ट में यह हाल है तो पूरे राज्य की स्थिति क्या होगी यह सोचने वाली बात है. इसके साथ ही उन्होंने स्टेट बार काउंसिल के अध्यक्ष से इस मामले में संज्ञान लेते हुए पत्राचार करने का आग्रह किया है.

इसे भी पढ़ें – चीन को एक और मात,  भारत बना यूनाइटेड नेशन के कमीशन ऑन स्टेटस ऑफ वूमेन का सदस्य

adv
advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button