न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

ज्यादा चलें पैदल तभी बच सकते हैं मधुमेह से : डॉ एनके सिंह 

379

Dhanbad : डायबिटीज रोग विशेषज्ञ डॉ एनके सिंह ने शनिवार को  रांगाटांड़ स्थित अपने क्लीनिक में प्रेस वार्ता कर कहा  कि  राज्य के शहरी क्षेत्र में 25 से 28 प्रतिशत और ग्रामीण क्षेत्र में 8 से 12 प्रतिशत तक डायबिटीज रोग का प्रसार हो रहा है. हैरानी की बात यह है कि 20 से 30 वर्ष के युवाओं में यह रोग तेजी से बढ़ रहा है. आज डायबिटीज के 70 प्रतिशत रोगी युवाओं में पाए जा रहे हैं.

mi banner add

इसे भी पढ़ें- रिम्स के जिस कैंसर विंग पर सरकार 82 करोड़ से अधिक कर चुकी है खर्च, वहां हैं सिर्फ दो डॉक्टर

कोयलांचल में प्रदूषण से बढ़ रहा डायबिटीज का खतरा 

सिंह ने बताया ध्वनि प्रदूषण डायबिटीज बीमारी होने की मूल वजह बनती जा रही है. नये रिसर्च में यह बात सामने आयी है कि लगातार बढ़ रहा ध्वनि प्रदूषण हमारे ब्रेन में इंवाइस पैदा करता है जो ब्रेन के अंदर खतरनाक तरह के जैव रसायनिक को रिलीज करता है. वह रसायनिक हार्ट किडनी में पहुंचकर उसे डैमेज करता है. साथ ही पेन्क्रियाज में जाकर बिटासेल को प्रभावित करता है. इस वजह से इन्सुलीन बनना बंद हो जाता है और फिर मधुमेह की बीमारी जन्म लेने लगती है.

इसे भी पढ़ें- पलामू : सदर अस्पताल की लचर व्यवस्था के खिलाफ कांग्रेस का धरना

ध्वनि प्रदूषण के साथ वायु प्रदूषण भी घातक

उन्होंने कहा कि विभिन्न त्योहारों के समय गाने बजते हैं. वह 60 डेसिबल से ऊपर तक 130, 140 डेसिबल तक चले जाते हैं. इस परिस्थिति में जो इरीटेशन होता है उससे शरीर में खराब तरह के जैव रसायनिक पदार्थ पैदा होता है. उन्होंने कहा कि ध्वनि प्रदूषण के साथ वायु प्रदूषण भी घातक हो गया है. वायु प्रदूषण भी बिटासेल को प्रभावित कर सकता है. सरकार को इस मुद्दे पर गंभीर होने की जरूरत है. लोगों में इसके प्रति जागरूकता आनी जरूरी है.

इसे भी पढ़ें- मोमेंटम झारखंड का हवाला देकर प्राइवेट यूनिवर्सिटी नहीं बना रही अपना कैंपस

हर छह सेकेंड में होती है एक डायबिटीज रोगी की मौत

Related Posts

शिक्षा विभाग के दलालों पर महीने भर में कार्रवाई नहीं हुई तो आमरण अनशन करूंगा : परमार

सैकड़ो अभिभावक पांच सूत्री मांगों को लेकर शनिवार को रणधीर बर्मा चौक पर एक दिवसीय भूख हड़ताल पर बैठे

उन्होंने कहा कि आज जो तथ्य उभर के सामने आया है वह चौंकाने वाला है. पिछले पांच सालों में हर 10 सेकेंड में एक डायबिटीज रोगी की जान जाती थी. अब जो नए आंकड़े मिले हैं उसमें छह सेकेंड में एक रोगी की मौत हो रही है. इससे पता चलता है कि डायबिटीज किस कदर खतरनाक होता जा रहा है.

इसे भी पढ़ें-देखें वीडियो : कैसे मामा ने भरी गोली और भांजे ने किया फायर, धनबाद…

डाइट और व्यायाम जरूरी पार्ट 

सिंह ने कहा कि खाने में कंट्रोल और नियमित व्यायाम से ही एक व्यक्ति डायबिटीज से बच सकता है. रोजाना एक घंटे का फ़ास्ट वॉक बेहद जरूरी है. खान-पान में अनार के कम से कम 10 दाने रोज खाना चाहिए. सभी प्रकार के नट्स का इस्तेमाल भी लाभकारी है. रोजाना चलने को आदत में शुमार करने की आवश्यकता है. आज डायबिटीज के 30 प्रतिशत रोगी ही चलते हैं.

इसे भी पढ़ें-धनबादः टेलीस्कोपिक राइफल से दागी गोली, कमर में खोंसे है…

रविवार को रन फॉर डायबिटीज

उन्होंने कहा कि मधुमेह बीमारी से बचाव के लिए जागरूकता कार्यक्रम चलाया जाना बेहद जरूरी है. एनजीओ दाग समय-समय पर जागरूकता कार्यक्रम चलाता रहा है. प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी विश्व मधुमेह दिवस के अवसर पर दाग की ओर से रविवार को दौड़ का आयोजन किया गया है. सुबह 8 बजे सिटी सेंटर से दौड़ प्रारंभ होगी. दौड़ में शहर के गण मान्य लोगों के साथ स्कूली बच्चे शामिल होंगे. दौड़ रणधीर वर्मा चौक पहुंच कर समाप्त होगी. 14 नवंबर मधुमेह दिवस पर श्रमिक चौक पर ब्लू बैलून कार्यक्रम का आयोजन दाग की ओर से किया जायेगा.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: