न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

वामपंथियों ने आपसी तालमेल से विस चुनाव में शामिल होने का लिया निर्णय, चिह्नित की गयीं सीटें

23
  • चुनावी रणनीति तय करने के लिए वामपंथियों ने की बैठक

Ranchi : वामदलों की संयुक्त बैठक गुरुवार को सीपीआईएम कार्यालय में की गयी. इसमें सीपीआईएम, माकपा और माले के प्रतिनिधि शामिल हुए. बैठक की जानकारी देते हुए सीपीआईएम राज्य सचिव मंडल सदस्य प्रकाश विप्लव ने बताया कि वामपंथी दल इस बार के झारखंड विधानसभा चुनाव में आपसी तालमेल के साथ शामिल होंगे. कोशिश की जायेगी कि इस चुनाव में वामपंथियों की सीटें बढ़ायी जायें. साथ ही, पार्टी की मजबूती पर भी ध्यान दिया जायेगा. उन्होंने कहा कि सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया है कि वोटों का बंटवारा कम से कम हो, इस पर ध्यान दिया जायेगा. उन्होंने कहा कि बैठक का मुख्य उद्देश्य तीनों पार्टियों के बीच समन्वय स्थापित करना है, ताकि चुनाव में वामपंथी बेहतर कर सकें.

सीटें चिह्नित की गयीं

बैठक में तीनों पार्टियों ने झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए अपनी-अपनी सीटें चिह्नित की. इसमें सीपीआईएम के लिए रांची और राजमहल, माकपा के लिए कोडरमा और माले के लिए हजारीबाग सीट चिह्नित की गयी. राज्य सचिव गोपीकांत बक्शी ने बताया कि आपसी तालमेल से ही वामपंथियों के बीच सीट बंटावारा होगा.

भाजपा को हटाना मुख्य उद्देश्य

गोपीकांत बक्शी ने बताया कि वामपंथियों का मुख्य उद्देश्य भाजपा को राज्य से हटाना है. विपक्षी पार्टियों का वामपंथी समर्थन करेंगे, लेकिन वोटों का बंटवारा कम हो, इस पर ध्यान दिया जायेगा. उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर कोई गठबंधन चुनाव के पूर्व नहीं बनेगा. चुनाव के बाद पार्टियों की स्थिति पर निर्भर करेगा कि किन पार्टियों का गठबंधन होगा. राज्य स्तर पर हर प्रदेश की अलग-अलग स्थिति है.

Related Posts

धनबाद : 100 करोड़ घोटाला मामले में बंद कैदी को PMCH में भर्ती करा जवान गायब

जब न्यूज विंग की टीम पीएमसीएच पहुंची तो देखा कि कैदी अकेला वहां इलाज करा रहा है.

SMILE

ये थे उपस्थित

मौके पर प्रफुल लिंडा, वीरेंद्र कुमार, भुवनेश्वर मेहता, महेंद्र पाठक, अजय सिंह, जनार्दन प्रसाद, सिद्धेश्वर सिंह, मिथिलेश सिंह, हलधर महतो समेत अन्य उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें- बरियातू रोड स्थित ओल्ड एज होम में होता है वसूली का खेल, प्रताड़ित हो रहे बुजुर्गों की सुनने वाला कोई…

इसे भी पढ़ें- पत्रकार अमित टोपनो हत्याकांडः अबतक नहीं सुलझी मर्डर मिस्ट्री, परिजनों ने पुलिस जांच पर उठाये सवाल

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: