Lead NewsNational

BIG NEWS : जम्मू-कश्मीर में लश्कर-ए-तोयबा के आतंकवादी मॉड्यूल का खुलासा, 7 आतंकी गिरफ्तार

Srinagar : जम्मू-कश्मीर के बांदीपुरा (Bandipora) में राज्य पुलिस के साथ मिलकर सुरक्षा बलों ने लश्कर-ए-तोयबा के आतंकवादी मॉड्यूल (Terror Module) का खुलासा किया है. सुरक्षा बलों ने 7 आतंकवादियों को भी गिरफ्तार किया है. जिन लोगों को गिरफ्तार किया गया है, उनमें कुछ लश्कर-ए-तोयबा (Lashkar-i-Toiba) के आतंकवादी हैं, तो कुछ उनके मददगार भी हैं. सभी को उत्तर कश्मीर के बांदीपुरा से सोमवार को गिरफ्तार किया गया.

इसे भी पढ़ें:झारखंड : सबूत के साथ हाईकोर्ट के अधिवक्ता ने ED को लिखा पत्र, कहा-दुमका में हो रहे अवैध पत्थर माइनिंग पर करें कार्रवाई

हथियार एवं गोला-बारूद भी बरामद

Chanakya IAS
SIP abacus
Catalyst IAS

जम्मू-कश्मीर पुलिस के प्रवक्ता ने यह जानकारी दी है. प्रवक्ता ने कहा है कि इनके पास से आपत्तिजनक सामग्री के साथ-साथ हथियार एवं गोला-बारूद भी बरामद किये गये हैं. इतना ही नहीं, 4 दोपहिया वाहन समेत 6 वाहन भी जब्त किये गये हैं.

The Royal’s
Sanjeevani
Pushpanjali

पिछले दिनों बांदीपुरा में हुई एक घटना की जांच के दौरान इस आतंकवादी मॉड्यूल का पता चला. पाकिस्तान में ट्रेंड एक आतंकवादी के अलावा 2 हाइब्रिड आतंकवादी और आतंकवादियों के 4 मददगारों को सुरक्षा बलों ने गिरफ्तार किया.

इसे भी पढ़ें:आम और खास के बीच चर्चा का बाजार गरम, आखिर 17 मई को क्या होगा?

पाकिस्तान में ट्रेनिंग लेकर आया था एक आतंकी

पाकिस्तान में ट्रेंड एक आतंकवादी की पहचान आरिफ एजाज शेहरी (पिता एजाज अहमद उर्फ अनफाल निवासी नादिहाल) के रूप में हुई है. वह वर्ष 2018 में वैध वीजा लेकर वाघा बॉर्डर के रास्ते पाकिस्तान गया था. पाकिस्तान में हथियार चलाने की ट्रेनिंग लेने के बाद उसने घुसपैठ की और बांदीपुरा में लश्कर-ए-तोयबा (LeT) के लिए काम करने लगा.

इसे भी पढ़ें:पटना : गंगा नदी में दो अलग-अलग हादसों में छह डूबे, एसडीआरएफ की टीम ने बचाया

हाइब्रिड आतंकियों को भी पकड़ा गया

दो हाइब्रिड आतंकियों की पहचान एजाज अहमद रेशी (पिता अब मजीद निवासी रामपुरा) और शारिक अहमद लोन (पिता मोहम्मद सादिक लोन निवासी गुंडपोरा) के रूप में हुई है. पुलिस के प्रवक्ता ने कहा है कि गिरफ्तार किये गये आतंकवादियों को पुलिस और सुरक्षा बलों पर विशेष रूप से बांदीपुरा में हमला करने की जिम्मेदारी सौंपी गयी थी.

एक महिला मददगार भी गिरफ्तार

आतंकवादियों के चार मददगारों को भी गिरफ्तार किया गया है. इनमें एक महिला भी है. आतंकवादियों के मददगारों में रियाज अहमद मीर उर्फ मीठा शेहरी (पिता गुलाम मोहम्मद मीर निवासी प्लान बांदीपुरा), गुलाम मोहम्मद वजा उर्फ गुल बाब (पिता गुलाम कादिर वजा निवासी तौहीदाबाद बाग), मकसूद अहमद मलिक (पिता मोहम्मद जमाल मलिक निवासी चिट्टीबांदी आरामगम) और सीमा शफी वजा (पिता मोहम्मद शफी निवासी तौहीदाबाद बाग) के रूप में हुई है.

इस तरह करते थे आतंकवादियों की मदद

पुलिस के प्रवक्ता ने बताया कि शुरुआती जांच में पता चला है कि ये लोग आतंकवादियों को लाने-ले जाने के काम में लगे थे. बांदीपुरा में जरूरी सामग्री की आतंकियों तक आपूर्ति करते थे. उनके लिए गाड़ियों का इंतजाम करते थे. जिस महिला मददगार को पकड़ा गया है, वह वाई-फाई हॉटस्पॉट के साथ-साथ आतंकियों के ठहरने और बांदीपुरा में कहीं आने-जाने में उनकी मदद करती थी.

इसे भी पढ़ें:झारखंड सरकार पर भड़की भाजपा, कहा- रघुवर दास की गिरफ्तारी को तैयार नहीं होने पर पुलिस पदाधिकारियों का किया तबादला

आतंकियों से बरामद सामान

आतंकवादियों के पास से आपत्तिजनक दस्तावेज के अलावा हथियार और गोला बारूद बरामद हुए हैं. इनमें 2 पिस्टल, 3 पिस्टल की मैगजीन, 25 पिस्टल की गोलियां, 3 हैंड ग्रेनेड उनके कब्जे से बरामद हुए हैं. इसके अलावा एक ईको वैन (Ecco Van), जिसका रजिस्ट्रेशन नंबर JK15A-1528 है, बरामद किया गया है. इसी वैन में आतंकवादियों को बांदीपुरा से नौगाम, पंथा चौक और श्रीनगर तक ले जाया गया था.

स्कूटी से करते थे रेकी

पुलिस एवं सुरक्षा बलों ने इनके पास से 3 स्कूटी भी जब्त की है. इन स्कूटी का इस्तेमाल पुलिस एवं सुरक्षा बलों, सुरक्षा प्रतिष्ठानों की रेकी करने और आतंकवादियों को एक जगह से दूसरी जगह पहुंचाने के लिए किया जाता था. इसी तरह 1 मारुति 800 कार और एक पल्सर बाइक भी जब्त की गयी है.

इसे भी पढ़ें :घाटी छोड़ें वर्ना, मरने को रहो तैयार..’, आतंकियों की धमकी के बाद कश्मीरी पंडित कर्मियों को सुरक्षित जिलों में किया जाएगा ट्रांसफर!

Related Articles

Back to top button