Crime NewsJharkhandRanchi

जानें कैसे, ग्रामीण इलाकों में पुलिस साइबर अपराध के खतरे के प्रति कर रही है जागरूक

Ranchi: साइबर अपराध के कारण झारखंड देशभर में बदनाम हो गया है. हालत ये है कि देश में कहीं भी साइबर अपराध होता है तो उसके तार झारखण्ड से जुड़े पाए जाते हैं. साइबर अपराधियों के शिकार शहरी इलाके के गांव के लोग भी होते हैं. इसका मुख्य कारण है कि ग्रामीण इलाके के लोग साइबर अपराध को लेकर ज्यादा जागरूक नहीं हैं. ग्रामीण इलाकों में लोगों को साइबर अपराध के प्रति जागरूक करने के लिए पुलिस मुहिम चला रही है. इस बारे में साइबर डीएसपी ने बताया की अभियान में लोगों को साइबर क्राइम के तरीकों से रूबरू कराया जा रहा है. उन्होंने बताया कि लोगों को इससे बचने और शिकार होने की स्थिति में उठाए जाने वाले जरूरी कदमों की भी जानकारी दी जा रही है.

साइबर अपराधियों को रोकने का एकमात्र उपाय है जागरूकता- साइबर डीएसपी

साइबर डीएसपी यशोधरा ने बताया की पुलिस की टीम शहर से लेकर गांव-गांव तक जा रही है. उन्होंने बताया कि ग्रामीण इलाकों में साइबर क्राइम को लेकर जागरूकता की भारी कमी है. इसी का फायदा साइबर अपराधी उठा रहे हैं. उन्होंने कहा कि साइबर अपराधियों को रोकने का एकमात्र उपाय है जागरूकता.

इसे भी पढ़ें-  बाइक पर सवार थे परिवार के पांच सदस्य, गिर गई बच्ची, ट्रैक्टर ने कुचला – मौत

Sanjeevani

साइबर अपराध से बचने के उपाय..

 

  • अपने एटीएम कार्ड का नंबर, सीवीवी नंबर किसी को न बताएं.

 

  • मोबाइल पर आने वाले ओटीपी को किसी को न बताएं.

 

  • मोबाइल-कंप्यूटर पर आने वाले अनचाहे लिंक को क्लीक न करें.

 

  • एटीएम मशीन का इस्तेमाल करते समय किसी अनजान व्यक्ति की मदद न लें.

 

  • किसी अजनबी से सोशल साइट फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्वीटर पर दोस्ती न करें.

 

  • कभी भी लॉटरी-ईनाम ईमेल का रिप्लाई न करें.

 

  • किसी अनजान के कहने पर कोई ऑनलाइन ट्रांजेक्शन न करें.

 

  • एडवांस बुकिंग के नाम पर ऑनलाइन पेमेंट स्वीकार न करें.

 

  • पेटीएम, फोनपे, गूगल पे आदि ऑनलाइन गेटवे पर रिक्वेस्ट मनी पेमेंट को कभी भी स्वीकार न करें.

इसे भी पढ़ें- सावधान ! अब कोराना का UK वाले स्ट्रेन से भी खतरनाक स्ट्रेन पहुंचा भारत

 

Related Articles

Back to top button