न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

लाठीचार्ज कांड : आईजी आशीष बत्रा ने पत्रकारों से मांगी माफी, जांच का दिया आश्वासन

83

Ranchi : झारखंड स्थापना दिवस के दिन पत्रकारों पर हुए लाठीचार्ज को लेकर रांची के पत्रकारों ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में आईजी आशीष बत्रा से सवाल किया. इस पर आईजी आशीष बत्रा ने घटना को लेकर पत्रकारों से माफी मांगते हुए कहा कि वह इस पूरी घटना की जांच करायेंगे. दरअसल, सोमवार को आयोजित होनेवाले एक कार्यक्रम को लेकर रविवार को पुलिस मुख्यालय के आईजी आशीष बत्रा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की थी. इसी दौरान वहां मौजूद पत्रकारों ने बत्रा से कहा कि अगर मीडियाकर्मी सोमवार को होनेवाले कार्यक्रम में आयेंगे, तो कहीं पुलिस फिर से तो उन पर लाठीचार्ज नहीं कर देगी न. अगर ऐसा कुछ होनेवाला है, तो पहले बता दीजिये, सारे पत्रकार अपनी सुरक्षा को ध्यान में रखकर उस कार्यक्रम में  हेलमेट पहनकर ही पहुंचेंगे. प्रेस कॉन्फ्रेंस में पत्रकारों के इस सवाल पर आईजी आशीष बत्रा ने कहा कि अगर स्थापना दिवस समारोह के दौरान हुई घटना से पत्रकारों को दुःख पहुंचा है, तो वह पुलिस की ओर से सभी पत्रकारों से माफी मांगते हैं. उन्होंने पत्रकारों पर लाठीचार्ज  की घटना की जांच कराने का भी आश्वासन दिया. हालांकि, इस दौरान बत्रा ने पत्रकारों को सलाह देते हुए यह भी कह डाला कि पत्रकारों को चाहिए कि ऐसी घटनाओं के कवरेज के दौरान वे संयम बरतें और दूर से ही फोटोग्राफी करें.

क्या है मामला

बता दें कि गुरुवार को राजधानी रांची के मोरहाबादी मैदान में झारखंड स्थापना दिवस समारोह का आयोजन किया गया था. एक ओर मुख्य समारोह का आयोजन हो रहा था, तो दूसरी ओर अपनी मांगों को लेकर मोरहाबादी मैदान पहुंचे राज्यभर के पारा शिक्षक विरोध प्रदर्शन कर रहे थे. पारा शिक्षकों का विरोध प्रदर्शन उग्र रूप लेने लगा और देखते-देखते जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने पारा शिक्षकों पर लाठीचार्ज कर दिया. समारोह में उपस्थित मीडियाकर्मी अपना काम करते हुए लाठीचार्ज की घटना का भी कवरेज करने लगे. लेकिन, यह रैफ के जवानों और पुलिस को नागवार गुजरा और उन्होंने मीडियाकर्मियों पर भी बर्बरतापूर्वक लाठीचार्ज कर दिया. इसमें दर्जनों पत्रकार घायल हुए. वहीं, कुछ मीडियाकर्मियों के कैमरे को भी तोड़ दिया गया एवं कैमरे से तस्वीरों को भी डिलीट करवाया गया.

इसे भी पढ़ें- 19 नवंबर को सीएम आयेंगे पलामू, बहिष्‍कार की रणनीति बनाते 16 पारा शिक्षक गिरफ्तार

राज्यपाल से भी मिले थे प्रेस क्लब के सदस्य

silk_park

झारखंड स्थापना दिवस के दिन मीडियाकर्मियों पर हुए हमले की उच्चस्तरीय जांच कराने को लेकर रांची प्रेस क्लब के प्रतिनिधिमंडल ने शनिवार को राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू से मुलकात की थी. प्रेस क्लब के अध्यक्ष राजेश सिंह ने राज्यपाल को घटना से अवगत कराते हुए कहा कि राज्य स्थापना दिवस के मुख्य समारोह स्थल पर मीडियाकर्मी समाचार संकलन में व्यस्त थे. राज्य सरकार ने कार्यक्रम के कवरेज के लिए मीडिया को आमंत्रित किया था, लेकिन कवरेज कर रहे निरीह और निहत्थे मीडियाकर्मियों पर बर्बर पुलिसिया लाठीचार्ज और उससे भी आगे जाकर कैमरा तोड़ने, तस्वीर डिलीट करने की घटना को अंजाम दिया गया. इससे राज्य और देश के पत्रकारों में भारी आक्रोश है. राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने सभी बातों को ध्यान से सुना और मामले की जांच कराने का आश्वासन दिया था.

इसे भी पढ़ें- करार की मियाद पूरी, 26,000 करोड़ के प्रोजेक्ट में दो साल की देरी, 2019 में प्लांट से शुरू होना था…

प्रेस फोटोग्राफर समेत कई व्यक्ति हुए थे घायल

लाठीचार्ज के दौरान कई लोग घायल हुए थे. लाठीचार्ज में पारा शिक्षकों के अलावा प्रेस व सफाईकर्मी के साथ-साथ अन्य व्यक्ति भी घायल हुए थे. इनमें कई महिलाएं भी शामिल हैं. पुलिस द्वारा किये गये लाठीचार्ज में किसी को हाथ में चोट लगी, तो किसी के पांव में फ्रैक्चर आ गया है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: