JharkhandLead NewsRanchi

JPSC अभ्यर्थियों पर लाठीचार्ज: आजसू पार्टी ने हेमंत सरकार का पुतला फूंका

Ranchi : जेपीएससी अभ्यर्थियों पर लाठीचार्ज के विरोध में बुधवार को आजसू पार्टी (रांची महानगर) ने हेमंत सरकार का पुतला फूंका. जेपीएससी पीटी परीक्षा परिणाम को संदेहास्पद बताया. साथ ही इसकी उच्चस्तरीय जांच की मांग की. पार्टी रांची महानगर अध्यक्ष ज्ञान सिन्हा ने कहा कि सातवीं से दसवीं जेपीएससी पीटी परीक्षा रद्द करने की मांग जायज है. इसे लेकर जेपीएससी कार्यालय का घेराव करने पहुंचे अभ्यर्थियों पर पुलिस द्वारा किया गया लाठीचार्ज निंदनीय है. शांतिपूर्ण रूप से अपनी मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे निहत्थे अभ्यर्थियों पर बर्बरतापूर्ण तरीके से पुलिस कार्रवाई हुई.

Advt

इससे वर्तमान सरकार की संकुचित मानसिकता और युवाओं के प्रति सरकार की सोच का पता चलता है. जनसमस्याओं का समाधान करना ही सरकार का मूल दायित्व होता है, लेकिन इसके विपरीत सरकार ने जनता की आवाज़ को ही दबाना शुरू कर दिया है.

इसे भी पढ़ें:अब तक बजट का 25 फीसदी भी खर्च नहीं, झारखंड में एक बार फिर ‘मार्च लूट’ की तैयारीः भाजपा

झारखंड के लिए 23 नवंबर काला दिवस

घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए रांची महानगर महिला अध्यक्ष सीमा सिंह ने कहा कि 23 नवंबर को हुए लाठीचार्ज का दिन झारखंड के लिए काला दिन था. यह सरकार युवा विरोधी सरकार है.

जेपीएससी अभ्यर्थियों की जायज मांगों को गम्भीरता से लेने की जगह यह सरकार उनकी आवाज़ को पुलिस और लाठी-डंडे के बल पर दबाना चाह रही है. झारखण्ड में लोकतंत्र और संवैधानिक अधिकारों की हत्या हो रही है.

पार्टी इस पूरे मामले की उच्चस्तरीय जांच की मांग करती है. पुतला दहन कार्यक्रम में पार्टी के वरीय उपाध्यक्ष (महानगर) बंटी यादव, सुनील यादव, महासचिव रमेश गुप्ता सहित अन्य भी शामिल थे.

इसे भी पढ़ें:झारखंड प्रशासनिक सेवा के 6 अधिकारियों का तबादला

Advt

Related Articles

Back to top button