JharkhandLatehar

लातेहार : आदिम जनजाति के युवक की जांघ की टूटी हड्डी का #RIMS में नहीं हुआ ऑपरेशन

Latehar : चंदवा प्रखंड के सेरक पंचायत के नकटी स्थित परहैया टोला निवासी हरखू परहैया पिता बिफन परहैया की दायीं जांघ की हड्डी एक्सीडेंट में टूट गयी थी. रिम्स में डेढ़ महीने तक भर्ती रहने के बाद भी उसकी टूटी हड्डी का ऑपरेशन नहीं किया किया.

यह बहात तब सामने आयी जब सामाजिक कार्यकर्ता अयूब खान और फहमीदा बीवी ने गांव जाकर हरखू से मुलाकात की और टूटी जांघ के बारे में जानकारी ली.

इसे भी पढ़ें : धनबाद: बस की टक्कर से महिला की मौत दो की हालत गंभीर, आक्रोशित लोगों ने किया पथराव

टेम्पू-हाइवा में हुई थी टक्कर

खान ने बताया कि जुलाई माह में रूद मुर्तिया के पास टेम्पू और हाइवा की टक्कर हो गयी थी जिसमें दो की मौत हुई थी और सात लोग घायल हो गये थे. उसी हादसे में हरखू परहैया की दायीं जांघ की हड्डी टूट गयी थी. बेहतर इलाज के लिए उसे चंदवा सीएचसी से रिम्स रेफर किया गया था, जहां वह डेढ़ महीने भर्ती रहा.

चिकित्सकों ने ऑपरेशन के लिए इनसे ब्लड की व्यवस्था करने को कहा लेकिन व्यवस्था नहीं कर पाये जिस कारण ऑपरेशन नहीं हो पाया. थक हार कर वह बिना ऑपरेशन के ही घर चला आया.

एक माह से पड़ा है घर में

परदेशी परहैया, महेंद्र परहैया, सुनीता परहिन, लालजीत परहैया, मुनिया देवी ने बताया कि परिजन गरीबी के कारण हरखू का इलाज कराने में असमर्थ हैं. पैर मे सूजन बढ़ रही है.  बैशाखी के सहारे थोड़ा-बहुत चल फिर रहा है, करीब एक माह से यह घर में पड़ा हुआ है.

टूटी हड्डी के कारण मरीज के अपाहिज होने का खतरा बढ़ गया है. फिलहाल वह चटुआग मे अपने बहन बहनोई के यहां रहकर किसी तरह समय काट रहा है.

इसे भी पढ़ें : #NarendraModi की पत्नी यशोदा बेन पहुंचीं धनबाद,  कहा-  महिलाओं की शिक्षा से ही होगा देश का विकास

डीसी से मदद की गुहार

खान ने कहा है कि आदिम जनजाति को लेकर कई सरकारी प्रावधान हैं, विलुप्त हो रही जनजातियों के संरक्षण को लेकर कई योजनायें भी हैं जिसके तहत जिला कल्याण विभाग तत्काल चिकित्सा अनुदान योजना के तहत राशि देकर ऑपरेशन करवाकर इसको अपाहिज होने से बचा सकता है. दोनों सामाजिक कार्यकर्ताओं, परिजनों व ग्रामीणों ने उपायुक्त से इस मामले में चिकित्सीय मदद की गुहार लगायी है.

इसे भी पढ़ें : रामगढ़ : उरीमारी में JMM नेता की गोली मारकर हत्या, विरोध में कोयला ट्रांसपोर्टिंग किया गया ठप

Related Articles

Back to top button