JharkhandLead NewsPalamuTOP SLIDER

Latehar : नक्सलियों के बंद की पूर्व संध्या पर पुलिस को मिली बड़ी सफलता, 5 लाख का इनामी माओवादी सबजोनल कमांडर गिरफ्तार

Latehar : प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी के मंगलवार 17 अक्टूबर के बंद से पहले पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी. बंद की पूर्व संध्या पर पुलिस और सीआरपीएफ की संयुक्त कार्रवाई में भाकपा माओवादी के सब-जोनल कमांडर विमल उर्फ किशोर सिंह को गिरफ्तार किया गया. विमल पर पांच लाख का इनाम है. गिरफ्तार नक्सली माओवादी रिजनल कमांडर छोटू के नेतृत्व में कार्य को अंजाम देता था. जिले के विभिन्न थानों में दर्जनों कांडों में वांछित था. मनिका थाना क्षेत्र के कुमंडीह जंगल से उसकी गिरफ्तारी हुई. गिरफ्तार नक्सली लातेहार जिले के मनिका थाना क्षेत्र के मटलौंग गांव का रहनेवाला है.

इसे भी पढ़ें – अध्यक्ष बनने की मांग पर राहुल गांधी का जवाब- दबाव बनाया तो फिर बन सकता हूं कांग्रेस प्रमुख

advt

लातेहार के एसपी अंजनी अंजन ने बताया कि शनिवार की सुबह गुप्त सूचना मिली थी कि भाकपा माओवादी का एक दस्ता मनिका थाना क्षेत्र के कुमांडीह के जंगल में किसी घटना को अंजाम देने के लिए आनेवाला है. इस सूचना पर अभियान एएसपी विपुल पांडे के नेतृत्व में छापामारी टीम गठित का गठन कर जंगलों में छापामारी के लिए भेजा गया. इसी दौरान वहां संदिग्ध अवस्था में एक व्यक्ति जंगल की ओर से निकलता दिखा. पुलिस ने दौड़ा कर उसे धर दबोचा. छानबीन में पता चला कि आरोपी माओवादी संगठन का सब जोनल कमांडर किशोर सिंह है.

एसपी ने बताया कि गिरफ्तार माओवादी कई कांडों का आरोपी रहा है. उन्होंने बताया कि गिरफ्तार माओवादी पर सरकार ने 5 लाख रुपये इनाम भी घोषित कर रखा है. एसपी ने यह भी बताया कि इस पर लातेहार जिले के विभिन्न थाना क्षेत्रों में लगभग 20 से अधिक मामले दर्ज हैं.

दो दशक से सक्रिय था विमल

एसपी ने बताया कि गिरफ्तार उग्रवादी भाकपा माओवादी संगठन में दो दशक से सक्रिय रहा है. वर्तमान में वह सब जोनल कमांडर के पद पर था. वह मुख्य रूप से छोटू खरवार के दस्ते के साथ रहकर विभिन्न नक्सली घटनाओं को अंजाम देता था. एसपी ने बताया कि गिरफ्तार उग्रवादी से पुलिस को कई महत्वपूर्ण सूचनाएं प्राप्त हुई हैं, जिसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जा रही है.

छापामारी में अभियान एएसपी के अलावा पुलिस इंस्पेक्टर शशि रंजन कुमार, मनिका थाना प्रभारी शुभम कुमार, गारू थाना प्रभारी रंजीत कुमार यादव, छिपादोहर थाना प्रभारी विश्वजीत तिवारी समेत अन्य पुलिस के अधिकारी शामिल थे.

इसे भी पढ़ें – भाकपा-माओवादी ने शीर्ष नेता आरके की किडनी खराब होने के कारण मौत

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: