JharkhandLateharPalamu

लातेहार: बूढ़ा जल प्रपात देखने आने वाले लोकल लोगों को मिलेगी पूरी छूट

स्थानीय लोगों के भारी विरोध पर इको विकास समिति-लोधकर्मी बैकफुट पर

विज्ञापन

Palamu/Latehar: पलामू टाइगर रिजर्व क्षेत्र के लातेहार जिले में स्थित प्रसिद्ध और सबसे ज्यादा हाइट वाले पर्यटन स्थल बूढ़ा जल प्रपात देखने आने वाले स्थानीय लोगों को पूरी तरह छूट देने का निर्णय लिया गया है. स्थानीय लोगों के भारी विरोध के कारण देखने के लिए लगाए गए शुल्क को नहीं लेने पर सहमति बनी.

विदित हो कि इको विकास समिति लोध के द्वारा पर्यटक स्थल बूढ़ा जल प्रपात देखने आने वाले लोगों से वाहन पार्किंग तथा प्रवेश शुल्क लिए जाने पर स्थानीय लोगों में भारी विरोध था. मामले को देखते हुए मंगलवार को महुआडांड रेंजर वृन्दा पांडेय की अध्यक्षता में बूढ़ा जल प्रपात में ग्राम लोध की ग्राम सभा एवं इको विकास समिति के सदस्यों की बैठक हुई.

एक सप्ताह बाद से वसूला जाएगा शुल्क

बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया की 3 नवम्बर से पर्यटकों से लिए जाने वाले शुल्क की राशि अगले एक सप्ताह तक नहीं लिया जायेगा. बैठक में यह भी निर्णय लिया गया की इसमें स्थानीय लोगों को राहत दी जायेगी. स्थानीय प्रमाण पत्र यथा वोटर आई डी, आधार कार्ड आदि दिखाने पर स्थानीय लोगों को बूढ़ा जलप्रपात क्षेत्र में प्रवेश पर किसी भी प्रकार की कोई राशि नहीं देनी होगी, जबकि पूर्व में लिए गए निर्णय के अनुसार प्रवेश शुल्क 10 रुपये रखी गई थी.

इसे भी पढ़ें-गिरिडीह: मधुबन में डोली मजदूरों की माली हालत खराब, इनकी राजनीति करने वालों ने भी छोड़ा साथ

पार्किंग शुल्क में भी 50 प्रतिशत की रियायत

वहीं स्थानीय लोगों को पार्किंग शुल्क में भी 50 प्रतिशत की रियायत दी गई है. अब स्थानीय लोगों को पार्किंग चार्ज दुपहिया वाहन-20रू की जगह में 10 रूपये, चार पहिया वाहन- 50 की जगह में 25 तथा चार पहिया वाहन से उपर-100 की जगह में 50 रूपये देना पड़ेगा. बैठक में प्रखंड प्रमुख जाॅन वाल्टर तिर्की, लोध गांव के ग्राम प्रधान फ्रांसिस केरकेट्टा, वनपाल अजय टोप्पो, आदि समेत काफी संख्या में वनकर्मी, इको विकास समिति लोध के सदस्य एवं ग्रामीण जनता मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें-कृषि मंत्री पहुंचे मेडिका, जवानों का बढ़ाया हौंसला

क्या था मामला?

गत रविवार को ग्राम लोध में ग्राम सभा एवं इको विकास समिति लोध की एक बैठक हुई थी. बैठक की अध्यक्षता लोध गांव के ग्राम प्रधान फ्रांसिस केरकेट्टा ने की थी. बैठक में इको विकास समिति लोध के अध्यक्ष सुनील नगेशिया, चटकपुर पंचायत की मुखिया श्रीमती रेखा नगेशिया, कोषाध्यक्ष राम दयाल राम समेत काफी संख्या में ग्रामीण जनता मौजूद थे.

3 नवंबर से शुल्क लेने का था निर्णय

बैठक में निर्णय लिया गया था कि 3 नवम्बर मंगलवार से बूढ़ा जल प्रपात देखने आने वाले पर्यटकों से दीदार करने से लेकर वाहन पार्किंग तक का शुल्क लिया जाएगा. लिए गए निर्णय के अनुसार पर्यटकों से प्रति व्यक्ति प्रवेश शुल्क-10, पार्किंग चार्ज दुपहिया वाहन- 20, चार पहिया वाहन-50 तथा चार पहिया वाहन से उपर-100रू वसूला जाएगा.

इसे भी पढ़ें-वियना में मुंबई जैसा आतंकी हमला, तीन की मौत, 15 जख्मी, पुलिस ने कहा- मारे गये सभी हमलावर

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: