JharkhandLatehar

#Latehar: दूसरी जेल में स्थानांतरण रुकवाने के लिए कैदी फोन लगाकर मांगता है रंगदारी!

Latehar: लातेहार जेल से एक कैदी के परिजनों को धमकी भरे फोन कर रंगदारी मांगने के मामले का खुलासा आंशिक तौर पर हो गया है. जांच में पता चला है कि एक अन्य कैदी अपनी शिफ्टिंग रुकवाने कि लिए वसूली कर रहा था.

उपायुक्त के आदेश पर सदर अनुमंडल पदाधिकारी ने एसडीपीओ एवं सदर अंचलाधिकारी जांच करायी जिसमें इस बात का खुलासा हुआ.

बता दें कि लातेहार मंडल कारा में बंद आरोपी राजेश उरांव ने अपने घरवालों से फोन पर बात कर 12000 रुपये एक दूसरे कैदी के खाते में जमा करवाने को कहा था.

इसे भी पढ़ें : whatsapp पर खबरें भेजना मुश्किल, न्यूज विंग की खबरें पढ़ते रहने के लिए हमारे Telegram चैनल से जुड़ें, जानें कैसे जुड़ें टेलिग्राम चैनल से

बैंक बंद होने के कारण खाते से लेन-देन की पुष्टि नहीं

वरीय अधिवक्ता सुनील कुमार की शिकायत पर लातेहार उपायुक्त तथा सदर अनुमंडल पदाधिकारी सागर कुमार ने मामले की जांच करायी. पदाधिकारियों ने जेल में जो जांच की पता चला कि बैंक खाता चंद्रशेखर ठाकुर नामक एक बंदी का है जो पिछले कई महीनों से लातेहार जेल में कई अपराधिक मामलों में  बंद है.

जांच करने वाले पदाधिकारियों एसडीपीओ वीरेंद्र कुमार राम तथा अंचलाधिकारी हरीश कुमार का कहना है कि मामला तो सही प्रतीत होता है लेकिन बैंक बंद होने की वजह से खाते में लेनदेन की जांच की पुष्टि नहीं हो पा रही है.

उन्होंने आगे कहा कि जांच प्रतिवेदन उपायुक्त को भेजी जायेगी. जांच में यह स्पष्ट हो गया है कि लातेहार जेल से अन्य जेलों में बंदियों का स्थानांतरण किया जा रहा है जिसे रोकने हेतु नाजायज वसूली करने का प्रयास किया जा रहा है.

adv

मालूम हो क्रोना संक्रमण को देखते हुए जिला प्रशासन द्वारा बंदियों की अधिकता एवं सोशल डिस्टेंसिंग बहाल करने हेतु उन्हें पिछले 2 सप्ताह से अन्य जेलों में स्थानंतरित किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें : #Anganbadi में हो रही घटिया सामग्री की आपूर्ति, चान्हो अंचल अधिकारी ने JSLPS को किया शो कॉज

कौन है बैंक खाता धारक

चन्द्रशेखर ठाकुर जमशेदपुर का रहने वाला है तथा टंडवा में उसकी ससुराल है. महंगे वाहनों को लूटने तथा रोड डकैती के कई मामलों का आरोपी है.

सवाल यह उठ रहा है कि जब वह जेल में बंद है तो अपने बैंक खाते का संचालन कैसे करता है. शक की सूई जेल के अधिकारियों की ओर भी मुड़ रही है क्योंकि यह जेल मैनुअल का खुला उल्लंघन है.

इसे भी पढ़ें : #Lockdown: वेल्लोर में फंसे लोगों की हिम्मत दे रही जवाब, बोले-कोरोना नहीं तो डर और बेबसी जान ले लेगी

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: