न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

लातेहार : वाहनों में आग लगाने के मामले में जेजेएमपी सुप्रीमो पप्पु लोहरा समेत नौ नामजद के खिलाफ  प्राथमिकी  

जेजेएमपी सुप्रीमो पप्पु लोहरा समेत 9 लोगों के खिलाफ नामजद व 15 अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

301

Latehar :चंदवा थाना क्षेत्र के चंदवा टोरी कोल साइडिंग में 11 जुलाई की रात जेजेएमपी उग्रवादी संगठन के द्वारा 16 वाहनों में आग लगाये जाने के मामले में चंदवा थाना में प्राथमिकी दर्ज कर ली गयी है. जेजेएमपी सुप्रीमो पप्पु लोहरा समेत 9 लोगों के खिलाफ नामजद व 15 अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

जिनमें  पप्पू लोहरा उर्फ़ सूर्यदेव लोहरा,बिरजू मिस्त्री उर्फ़ रामवृक्ष मिस्त्री,लवलेश गंझु, सुशील जी उर्फ़ सुशील गंझु,मनोहर गंझु उर्फ़ मनोहर,सुनील उरांव उर्फ़ सुनील जी,सुशील जी उर्फ़ बीरबल उरांव  और विनय जी उर्फ़ विनय सिंह के अलावे 10-15 अज्ञात के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है.

Trade Friends

इसे भी पढ़ें – पुलवामा हादसे को बीते 150 दिन, रघुवर दास ने किया था शहीदों के परिजनों को मदद का वादा, नहीं किया पूरा

उग्रवादियों ने साइडिंग में गोलीबारी कर वाहनों में लगाई थी आग

टोरी रेलवे साइडिंग में 11 जुलाई की रात उग्रवादी संगठन झारखंड जनमुक्ति परिषद के सशस्त्र दस्ते ने जमकर उत्पात मचाया था. उग्रवादियों ने साइडिंग परिसर में खड़े 16 वाहनों को फूंक दिया था.  6 लोगों की पिटाई की और उनका मोबाइल भी लूट लिये थे.

घटना में करोड़ों के नुकसान हुआ था. मामले की सूचना मिलते ही चंदवा पुलिस मौके पर जब पहुंची, तो पुलिस को देखते ही उग्रवादी गोली चलाने लगे.  पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई कर गोली चलाना शुरु किया था. डेढ़ घंटे तक दोनों तरफ से रुक-रुक कर गोलीबारी होती रही. इसके बाद उग्रवादी जंगलों का लाभ उठाकर भाग निकले थे

  हथियारों से लैस थे उग्रवादी

WH MART 1

जानकारी के अनुसार 15 की संख्या में हथियारों से लैस होकर उग्रवादी पूर्व दिशा से साइडिंग में प्रवेश कर गये थे.साइडिंग परिसर में आते ही उग्रवादियों ने अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी.इससे मौके पर मौजूद लोगों में भगदड़ मच गयी.चालक अपने वाहनों को छोड़कर भागने लगे.

इसके बाद उग्रवादियों की एक दल ने वाहनों में तेल डालकर आग लगाना शुरू कर दिया और दूसरे दल ने कार्य कर रहे लोगों को एक जगह एकत्र कर राइफल के कुंदे से पीटकर घायल कर दिया, साथ ही उनका मोबाइल फोन और टॉर्च भी लूट लिये.

हस्तलिखित पर्चा छोड़ कर ली थी जिम्मेवारी

घटनास्थल के समीप उग्रवादी संगठन झारखंड जनमुक्ति परिषद जेजेएमपी ने हस्तलिखित पर्चा छोड़कर घटना की जिम्मेवारी ली थी. पर्चा में संगठन के लवलेश के द्वारा कहा गया है कि घटना को लेवी नहीं दिये जाने के कारण अंजाम दिया गया है. उग्रवादी संगठन जेजीएमपी ने टोरी व बिराटोली कोल साइडिंग में बिना इजाजत के कम नहीं करने की धमकी दी थी. आदेश का उलंघन कर काम करने पर फौजी कार्रवाई की धमकी भी दी गयी थी.पोस्टर में दोनों को साइडिंग में ट्रांसपोर्टिंग का कम बंद करने को कहा गया था.

इसे भी पढ़ें – क्या शिवपुर रेलवे साइडिंग चालू कराने में टीपीसी के अर्जुन गंझू का हाथ है

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like