JharkhandLatehar

#Latehar: 270 लाभुकों के 7430 किलो खाद्यान्न का डीलर ने किया गबन, मार्च में राशन दिया और फरवरी की भी इंट्री कर दी

Ranchi: झारखंड में गरीबों का राशन गबन करने के कई मामले सामने आ चुके हैं. कई डीलरों पर कार्रवाई भी हुई है. इसके बाद भी सरकारी राशन दुकान संचालकों द्वारा गरीबों के राशन गबन करने के मामले सामने आ रहे हैं.

ताजा मामला लातेहार जिले के मनिका प्रखंड स्थित नामूदाग पंचायत के चेचेन्धा गांव का है. यह गांव प्रखंड मुख्यालय से महज पांच किलोमीटर की दूरी पर है.

यहां डीलर जीतन यादव के खिलाफ 270 कार्डधारियों का फरवरी माह का 7430 किलो खाद्यान्न, 427 लीटर मिटटी तेल, 28 किलो चीनी व 285 किलो नमक गबन करने को लेकर ग्रामीणों ने शिकायत की.

मार्च का राशन दिया, फरवरी की भी एंट्री कर दी

#Latehar: 270 लाभुकों के 7430 किलो खाद्यान्न का डीलर ने किया गबन, मार्च में राशन दिया और फरवरी की भी इंट्री कर दी
ग्रामीणों का शिकायत पत्र.

मामले की शिकायत किये जाने के बाद डीलर ने 20 मार्च को कुछ कार्डधारियों को राशन दिया. जबकि लाभुकों के राशन कार्ड में मार्च माह के राशन देने के समय ही फरवरी के राशन की भी इंट्री की जा चुकी थी.

इतना ही नहीं, ऑनलाइन पोर्टल में भी 11 से 26 फरवरी को राशन वितरण फरवरी माह का दिखाया जा रहा है. जबकि इस बीच राशन लाभुकों को मिला ही नही.

इसे भी पढ़ें : एक रुपये में जमीन बांटती रही रघुवर सरकार, पांच सालों में किसी भी पंचायत में नहीं बनाया एक भी प्ले ग्राउंड

डीलर ने बिना राशन दिये 11 से 26 फरवरी तक ऑनलाइन में दिखा दिया वितरण

270 कार्ड धारियों को बिना फरवरी माह का राशन मिले ऑनलाइन पोर्टल में राशन वितरण दिख रहा था. जब 8 मार्च को लाभुक राशन लेने पहुंचे तो एक साथ ही फरवरी और मार्च माह के राशन की इंट्री कर दी गयी.

इसकी शिकायत मुखिया नामूदाग पंचायत के मुखिया श्यामा सिंह से भी की गयी. जब यह सूचना  मनरेगा सहायता केंद्र को मिली तो मामले की जांच की गयी.

इसमें  चेचेन्धा गांव के  17 दलित भुइयां परिवारों को बिना राशन दिये राशन कार्ड में एंट्री मिली है. वहीं दूसरे गांव के लाभुको ने भी कम राशन देने और फरवरी माह का राशन नही मिलने की शिकायत की.

25 किलो राशन दे कर दी कार्ड में 80 किलो की एंट्री

[better-wp-embedder width=”100%” height=”400px” download=”all” download-text=”” attachment_id=”165310″ /]

सुरजी देवी, जिसकी कार्ड संख्या 20 20 0278 9987 है, के कार्ड में 2 माह का राशन 80 केजी एंट्री किया गया है. उन्हें मात्र 25 किलो राशन दिया गया.

वही सुनिता देवी के कार्ड में दो माह का 50-50 किलो का एंट्री किया गया है. जिनका कार्ड नं. 20 20 0278 9924 है.

ग्रामीणों के अनुसार राशन डील प्रति कार्ड 3 से पांच किलो अनाज और नमक एवं आधा लीटर मिट्टी का तेल कम देता है.

इतना ही नही सरकारी राशन दुकान में मिट्टी तेल की कीमत 40 रुपये प्रति लीटर है जबकि वह 50 रुपये लीटर तेल देता है एवं नमक किसी को दिये बिना राशन कार्ड में एंट्री करता रहा है.

इसे भी पढ़ें : #Latehar: दो पुलिस वाहनों में टक्कर, एसआइ की मौत, आधा दर्जन से अधिक जवान घायल

क्या कहते हैं डीलर जितन यादव

गलती से कुछ लोगों के राशन कार्ड में दो माह की एंट्री हो गया है लेकिन सभी लाभुकों के नुकसान की भरपाई की जा रही है. 20 मार्च को राशन दिया गया है.

क्या कहते है प्रखंड विकास पदाधिकारी

प्रखंड विकास पदाधिकारी नंद कुमार राम कहते हैं- डीलर के द्वारा राशन गबन की शिकायत प्रखंड कार्यालय को नहीं मिली है.

लेकिन अगर इस तरह डीलर के द्वारा किया गया है तब उसकी जांच कर कार्रवाई करेंगे.

इसे भी पढ़ें : #Palamu: सर्दी-खांसी और बुखार से एक सप्ताह में पिता-पुत्री की मौत, गोवा से लौटा था परिवार का एक सदस्य

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button