LateharPalamu

लातेहार: भाजपा नेता जयवर्धन सिंह हत्याकांड, जेजेएमपी उग्रवादी ने सुपारी देकर करायी थी हत्या, चार अरेस्ट

Plamu /Latehar : .चतरा के सांसद सुनील सिंह के प्रतिनिधि एवं लातेहार भाजपा महामंत्री जयवर्धन सिंह के हत्याकांड का पुलिस ने उदभेदन करने का दावा किया है. पुलिस की एसआईटी ने पता लगाया कि उग्रवादी संगठन झारखण्ड जन मुक्ति परिषद (जेजेएमपी) के उग्रवादी मनोहर परहिया ने सुपारी देकर भाजपा नेता की हत्या करवाई है. हत्या लेवी नहीं मिलने और क्षेत्र में वर्चस्व स्थापित करने के उद्देश्य से की गई है. पुलिस ने इस मामले में स्थानीय थाना प्रभारी की संलिप्तता से भी इंकार किया है.

हत्या में शामिल चार अपराधियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है, जबकि हत्या में प्रयुक्त पिस्तौल, मोबाइल पुलिस ने किया बरामद किया है. लातेहार के पुलिस अधीक्षक प्रशांत आनंद ने इस हत्याकांड में भाजपा नेता को गोली मारने वाले शूटर राहुल कुमार ठाकुर (20), हत्या के बाद भागते समय गोली चलाने वाले शूटर सत्यम कुमार गुप्ता उर्फ सत्या (20) और घटना के समय थोड़ी दूर पर बाइक के साथ मौजूद और इस घटना का मास्टरमाइंड अंशु प्रसाद (23) को गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस ने घटना के बाद इन अभियुक्तों को घर में छिपा कर रखने वाले सुरेश परहिया (20) को भी पकड़ा है.

इसे भी पढ़ेंः भारत में गूगल 10 अरब डॉलर करेगा निवेश

ये चीजें हुई बरामद

पुलिस ने घटना में प्रयुक्त हथियार, खोखा, अभियुक्तों के सात मोबाइल सेट, छर्रे और सुपारी के लिए लिए गए 50 हजार रुपयों में से बीस हजार नकद बरामद किया हैं.

एसपी ने घटना की विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि घटना के पहले दोनों शूटरों राहुल और सत्या ने प्रज्ञा केंद्र पहुंच पैन कार्ड बनवाने की जानकारी ली, ताकि वहां बैठे भाजपा नेता की नजदीक से पहचान कर सकें. फिर राहुल ने सटा कर गोली मार दी. भागते समय राहुल तो पास ही बाइक लेकर मौजूद अंशु के साथ भाग निकला, परन्तु सत्य को स्थानीय लोगों ने दौड़ा दिया. उसने बचने के लिए हवा में गोली चलाई. सत्या पास की ही झाड़ी में छिप गया. फिर देर रात वहां से निकल कर उक्कामाढ़ पहुंचा, जहाँ तीनों एक साथ मिल गए.

इसे भी पढ़ेंः राजस्थान का सियासी ड्रामा : राजनीतिक नैतिकता और भरोसा किस चिड़िया का नाम है?

सुरेश परहिया के घर में रात बितायी

उन्होंने आगे बताया कि फिर तीनों हंदेहास पहुंचे और सुरेश परहिया के घर में रात बिताई. अगले दिन दोनों शूटर डालटनगंज की तरफ निकल गए. सुरेश जेजेएमपी के मनोहर का साला है. एसपी ने बताया कि जेजेएमपी के मनोहर ने इस काम के लिए अंशु को 50 हजार रूपये दिए थे. अंशु ने शूटरों को लालच दिया कि इस घटना को कर दो फिर पैसे की कमी नहीं रहेगी. बहुत पैसा होगा. अंशु ने उन्हें एक बाइक खरीदकर देने का वादा किया था.

हत्या के कारणों पर एसपी ने बताया कि इस घटना का एक कारण लेवी नहीं देना हो सकता है. दूसरा कारण किसी नामी गिरामी आदमी की हत्या कर क्षेत्र में वर्चस्व कायम करना हो सकता है. अभी मामले की जांच जारी है.

इसे भी पढ़ेंः हाल-ए-मनरेगाः5 लाख12 हजार 868 रजिस्टर्ड कामगारों को नहीं जारी हुआ जॉब कार्ड

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close