न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

लातेहार: पत्नी को भगा कर ले गया था युवक, नाराज पति ने दोस्तों के साथ मिल कर कर दी हत्या, तीन गिरफ्तार

467

Palamu: पलामू प्रमंडल के लातेहार जिले में गत 27 अगस्त की रात हुई बंगाल के बिजलीकर्मी मो. हबीबुल्लाह हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा कर दिया है. मो. हबीबुल्लाह की हत्या प्रेम प्रसंग में हुई थी. इस सिलसिले में तीन आरोपियों को बंगाल से गिरफ्तार किया गया है.

उनके पास से हत्या में प्रयुक्त देसी पिस्तौल, खोखा और मोबाइल फोन बरामद किया गया है. तीनों ने हत्या में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है. उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

लातेहार के एसपी प्रशांत आनन्द ने बताया कि गत 27 अगस्त की रात चंदवा थाना क्षेत्र के ब्रह्मणी (सासंग) मध्य विद्यालय के नजदीक अस्थायी कैम्प में सोये अवस्था में बिजलीकर्मी हबीबुल्लाह की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी.

इसे भी पढ़ें –#JPSC की कार्यशैली पर लगातार प्रतिक्रिया दे रहे हैं छात्र, पढ़ें-क्या कहा छात्रों ने…. (छात्रों की प्रतिक्रिया का अपडेट हर घंटे)

हत्या के बाद टीम बना कर छानबीन की जा रही थी. इसी बीच मोबाइल ट्रेस से घटना में सुराग मिला. छानबीन करने पर हत्या की गुत्थी सुलझ गयी.

एसपी ने बताया कि छानबीन के दौरान तीन आरोपियों को तकनीकी सेल के माध्यम से गिरफ्तार कर लिया है. इनका नाम मो अजहरउद्दीन, मो दिलबर हुसैन व बाबर अली है.

इन तीनों की गिरफ्तारी पश्चिम बंगाल पुलिस की मदद से मालदाह जिला के कलियाचक थाना के बाबुन गांव से की गयी है.

एसपी ने बताया कि मो अजहरउद्दीन की पत्नी को मृतक मो हबीबुल्लाह दो माह पूर्व भगा कर ले गया था. इसी प्रतिशोध में उसने उसकी हत्या की योजना बनायी.

इस कार्य में उसने मो दिलबर हुसैन को शामिल किया और हबीबुल्लाह की टोह में ब्रह्मणी गांव भेजा. यहां आने के बाद वह विजय इलेक्ट्रिकल में काम करने लगा और मो हबीबुल्लाह से दोस्ती कर उसकी सारी सूचना अजहउद्दीन को देने लगा.

इसे भी पढ़ें – लाल साड़ी में और लाल थैली में लाये हुए बजट की अब खुल रही है असलियत

घटना के दिन अजहरउद्दीन व बाबर अली ब्रह्मणी में ठेकेदार मोबिन आलम के स्टोर में पहुंचे. यहां मो हबीबुल्लाह सो रहा था. उन लोगों ने सोते हबीबुल्लाह को गोली मार दी और फरार हो गए.

कार्रवाई में चंदवा थाना प्रभारी मोहन पांडेय, आनंद कुमार, राजकुमार तिग्गा, आरक्षी रंधीर कुमार, साइबर सेल के काजल चंद्र मंडल व सुरेश कुमार सिंह, आरक्षी राहुल कुमार दुबे व गृह रक्षक कृष्ण गोपाल यादव शामिल थे.

इसे भी पढ़ें – #Cabinet : प्रधानमंत्री पत्रकार जीवन बीमा योजना पर मुहर,  पारा शिक्षक, बीआरपी-सीआरपी के लिए 10 करोड़ का कल्याण कोष

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: